3 राज्यों की पुलिस ने सुलझाया ऑनर किलिंग का मामला

- दाउद गैंग का पूर्व सदस्य भी गिरफ्तार

अंबिकापुर/रामानुजगंज।

आनर किलिंग के पैसे लेकर प्रेमी जोड़े को मौत के घाट उतारने वाले झारखंड के पांच आरोपियों को छत्तीसगढ़ की बलरामपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। यहां से आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। बलरामपुर पुलिस ने झारखंड और बिहार पुलिस की मदद से इस मामले को सुलझाया और आरोपियों को गिरफ्तार किया।

गिरफ्तार आरोपियों में शामिल झारखंड के छतरपुर निवासी शगीर अंसारी 32 वर्ष अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम गैंग के सदस्य के रूप में काम कर चुका है। मुंबई में एक बड़े कारोबारी की हत्या के आरोप में वह पांच वर्षों तक मुंबई की जेल में भी था। आनर किलिंग की घटना में शामिल एक अन्य आरोपी अजीमुल्ला अंसारी उर्फ अजमेर उर्फ रेहान बिहार के औरंगाबाद जिले के माली थानांतर्गत अशोक सिंह नामक व्यक्ति की हत्या का फरार आरोपी भी था।

की थी प्रेमी जोड़े की हत्या

यह खुलासा बलरामपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज शुक्ला ने गुरूवार को किया। उन्होंने बताया कि कंडा जंगल में 14 जुलाई को किशोरी की गोली मार हत्या के बाद उसकी पहचान झारखंड के छतरपुर थानांतर्गत ग्राम अमवा निवासी अकबर हुसैन की पुत्री सगुफ्ता परवीन उर्फ सोनम के रूप में हुई थी। मामले की जांच के दौरान पता चला था कि गांव के ही भोला साव के साथ उसका प्रेम संबंध था। भोला साव की भी लातेहार के बारेसांड़ थाना के सुगाबांध में हत्या कर दी गई थी। इसके बाद झारखंड और बिहार पुलिस के सहयोग से जब जांच आगे बढ़ाई गई तो मामला आनर किलिंग का निकला।

पुलिस ने ऐसे सुलझाया मामला

सुपारी किलर ग्राम अमवा निवासी अजीमुल्ला उर्फ रेहान उर्फ अजमेर के कुछ दिनों पहले मृतका सोनम के पिता अकबर हुसैन के संपर्क में आने की जानकारी मिलने पर पुलिस ने उसे धरदबोचा। कुख्यात शूटर अजीमुल्ला की गिरफ्तारी के बाद इस पूरे मामले का पर्दाफाश हो गया और एक-एक कर घटना की सारी कड़ियां जुड़ती चली गईं।

सुपारी की रकम लेनदेन करने में अजीमुल्ला की बहन नजमा खातून ने मदद की थी। इन दोनों के अलावा छतरपुर निवासी कुख्यात बदमाश शगीर अंसारी, अमवा के इकबाल अहमद, जलाल अंसारी व जिन्न्त हुसैन भी वारदात में शामिल थे। एएसपी पंकज शुक्ला ने बताया कि सभी आरोपियों के खिलाफ हत्या व आर्म्स एक्ट का मामला कायम किया गया था।

भागने की फिराक में एक आरोपी की हुई मौत

बुधवार को पस्ता थाना से घटनास्थल ले जाने के दौरान वाहन से कूदने पर विपरीत दिशा से आ रही पिकअप की चपेट में आने से हत्या के आरोपी इकबाल अंसारी की मौत हो गई थी। शेष पांच आरोपी अजीमुल्ला अंसारी उर्फ अजमेर उर्फ रेहान, शगीर अंसारी, जलाल अंसारी, जिन्न्त हुसैन व नजमा खातून को गुरूवार को न्यायालय के आदेश पर जेल दाखिल कराया गया है।

एसपी टीआर कोशिमा के मार्गदर्शन व एएसपी पंकज शुक्ला के नेतृत्व में आनर किलिंग के इस मामले के खुलासे में निरीक्षक शैफउल्ला सिद्दीकी, थाना प्रभारी पस्ता धीरेन्द्र बंजारे के अलावा थाना प्रभारी रामानुजगंज, चौकी प्रभारी बरियो, थाना प्रभारी बलरामपुर व साइबर सेल बलरामपुर की टीम सक्रिय रही।

Tags
Back to top button