राष्ट्रीय

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मेघालय की कोयला खदान में फंसे मजदूरों का मामला

जनहित याचिका पर सुप्रीम कोर्ट गुरुवार को करेगा सुनवाई

नई दिल्ली: मेघालय में एक कोयले की खदान से पानी भरने से उसमें पिछले दो सप्ताह से फंसे 15 लोगों को निकालने की कोशिशें जारी हैं. इसी बीच यह मामल सुप्रीम कोर्ट पहुँच गया है. जिसकी सुनवाई 4 जनवरी गुरुवार को चीफ जस्टिस की बेंच होगी.

आपको बता दें कि करीब 15 खनिक 13 दिसंबर को एक कोयला खदान में फंस गए थे. खदान में फंसे लोगों को बचाने के लिए एनडीआरएफ की टीम के 70 अधिकारी मौजूद हैं.

एनडीआरएफ ने स्‍थानीय प्रशासन से कम से कम दस 100-एचपी पंप की मांग की थी, लेकिन अब तक कोई कदम नहीं उठाया गया. एनडीआरएफ के अधिकारियों का कहना है कि 14 दिन में केवल खदान में फंसे लोगों के 3 हेलमेट ही मिल पाए हैं. लगभग 300 फीट खदान में फंसे लोगों के बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है.

गौरतलब है कि अवैध रूप से कोयला निकालने गए 15 लोग पिछले 13 दिसंबर से खदान में फंसे हैं. 13 दिसंबर को कुल 20 लोग खदान में घुसे थे, जिसमें पांच बाहर आने में सफल रहे.

सारे लोग खदान में संकरी सुरंगों से घुसे. स्थानीय लोगों के अनुसार खदान में घुसे लोगों में से किसी ने गलती से नदी से नजदीक वाली दीवार तोड़ दी जिससे सुरंग में पानी भर गया.

Summary
Review Date
Reviewed Item
सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मेघालय की कोयला खदान में फंसे मजदूरों का मामला
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement