राष्ट्रीय

उन्नाव रेप पीड़िता मामले में कुलदीप सिंह सेंगर के अलावा तीन और पर केस दर्ज

कुलदीप के अलावा तीन और लोगों ने किया था दुष्कर्म

नई दिल्ली: उन्नाव रेप पीड़िता मामले में जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा के समक्ष आरोपपत्र दाखिल किया गया. अदालत ने मामले को 10 अक्टूबर के लिए सूचीबद्ध किया. इससे पहले जांच एजेंसी ने अतिरिक्त दस्तावेज दाखिल करने तथा अभियोजन पक्ष के समर्थन में बयान देने वाले गवाहों की सूची जमा करने के लिए समय मांगा था.

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने आरोपपत्र में नरेश तिवारी, ब्रजेश यादव सिंह और शुभम सिंह के नाम आरोपियों के तौर पर दर्ज किये हैं. तीनों जमानत पर हैं. आरोपपत्र के अनुसार तीनों ने 4 जून की घटना के एक सप्ताह बाद लड़की का कथित तौर पर अपहरण किया और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया.

शुभम सिंह की मां शशि सिंह कथित तौर पर पीड़िता को बहलाकर चार जून को विधायक के आवास पर ले गई थी.

पीड़िता की मां के दर्ज हुए बयान

दिल्ली की अदालत ने गुरुवार को उन्नाव दुष्कर्म कांड की पीड़िता के पिता की न्यायिक हिरासत में हुई कथित हत्या के मामले में उसकी मां का बयान दर्ज किया है. मामले से जुड़े वकील ने कहा कि जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा के सामने दुष्कर्म पीड़िता की मां और बहन ने बंद कमरे में अपना बयान दर्ज करवाया और शुक्रवार को भी आगे की कार्यवाही जारी रहेगी.

वकील ने बताया कि अदालत के समक्ष बयान दर्ज कराते वक्त दुष्कर्म पीड़िता की मां मृत पति के कपड़ों को देखकर भावुक हो गईं और रो पड़ीं जिसे देखते हुए अदालत ने शांत होने के लिए उन्हें कुछ समय दिया.

उनकी बेटी के साथ भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने 2017 में कथित तौर पर दुष्कर्म किया था, उस समय पीड़िता नाबालिग थी. दुष्कर्म पीड़िता के पिता की कथित तौर पर पिटाई की गई थी और अवैध हथियार रखने का मामला दर्ज किया गया था. न्यायिक हिरासत के दौरान 29 अप्रैल 2018 को उनकी मौत हो गई थी. इससे पहले अदालत ने सेंगर और 10 अन्य के खिलाफ आरोप तय किए थे.

Tags
Back to top button