दुर्ग: हाईकोर्ट के आदेश में क्षेत्रवासी बने बाधक

दुर्ग: हाईकोर्ट के आदेश पर भू-स्वामी को कब्जा दिलाने पहुंची नगर निगम की टीम को बुधवार की दोपहर क्षेत्र के लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। लोगों के समर्थन में भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री सरोज पांडेय भी मौके पर पहुंची थी। उन्होंने मार्ग बंद होने से जनता को होने वाली समस्याओं का हवाला देते हुए नगर निगम की कार्यवाही को क्षेत्रवासियों के साथ तत्काल बंद करवाया।
सरोज पांडेय ने कहा कि हाईकोर्ट के आदेश को लेकर वे न्यायालय में पुर्नयाचिका दायर करेंगे। ताकि आम मार्ग बंद होने से क्षेत्रवासियों को परेशानियों का सामना न करना पड़े। इस मामले को लेकर क्षेत्रवासी पुनर्याचिका दायर करने के साथ-साथ जिला प्रशासन व आयुक्त को भी ज्ञापन सौंपने की तैयारी में है। क्षेत्रवासियों के विरोध के चलते भूमि पर भू-स्वामी को कब्जा दिलाने की कार्यवाही को नगर निगम ने बंद कर दिया है। वहीं क्षेत्रवासियों का कहना था कि अगर नगर निगम को आज कार्यवाही करनी थी तो पहले से इसकी सूचना क्षेत्रवासियों को देनी चाहिए थी।
00 पत्र लिखकर कोर्ट से मांगी थी मोहलत
वहीं भूस्वामी प्रमोद अग्रवाल तमेरपारा ने आक्रोश जताया और कहा कि यह 35 वर्ष पुराना मामला है। पिछले 17 वर्ष से भूमि पर कब्जा का मामला विचाराधीन था। पूर्व में नगर निगम ने भूमि को अधिग्रहण कर भू-स्वामी को क्षतिपूर्ति राशि देने का भी फैसला किया था। लेकिन राशि के अभाव में अधिग्रहण संभव नहीं हो पाया था। भूमि पर कब्जा दिलाने उनके पक्ष में न्यायालय तीन बार आदेश कर चूका है, लेकिन नगर निगम ने न्यायालय के आदेशों का पालन नहीं किया। हाईकोर्ट के आदेश के पालन स्वरुप नगर निगम के आयुक्त ने सितंबर 2017 में हाईकोर्ट को पत्र लिखकर भू-स्वामी को भूमि पर कब्जा दिलाने 19 अक्टूबर तक की मोहल्लत मांगी थी। फलस्वरुप नगर निगम भूमि पर कब्जा दिलवाने आज मौके पर पहुंची थी, लेकिन कार्यवाही पूरी नहीं कर सकी।

1
Back to top button