कैट ने छत्तीसगढ़ राज्य विधुत नियामक आयोग को व्यापारियों पर लगने वाले विधुत दर के सम्बंध में सुझाव दिये

रायपुर: कॅान्फेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मगेलाल मालू, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, प्रदेश महामंत्री जितेन्द्र दोषी, प्रदेश कार्यकारी महामंत्री परमानन्द जैन, प्रदेश कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल, एवं प्रवक्ता राजकुमार राठी ने बताया कि कान्फ़ेडरेशन आफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य नियामक आयोग को कॉमर्षियल उपभोक्ताओ को लगने वाले विधुत दर के सम्बंध में सुझाव दिये।

छत्तीसगढ़ प्रदेष मे 3,20,000 कॉमर्षियल उपभोक्ता है, जिनका औसत खपत 503 एम. युनिट, लोड फैक्टर 14.10 प्रतिषत, औसत लोड 806 और औसत दर रूपये 8.39 प्रति युनिट है, नियमानुसार विधुत लागत दर का 120 प्रतिषत से अधिक किसी भी श्रेणी में नहीं होना चाहिए। परन्तु वर्तमान में कॉमर्षियल श्रेणी मे रूपये 9.61 प्रति युनिट तक लिया जा रहा है।

इस में सम्बंध कैट सी.जी. चैप्टर ने मांग है, कि औसत दर बहुत ज्यादा लग रहा है, जिसे छोटे एवं मध्यम व्यापारी सहन नही कर पा रहे है। इसे अधिकतम रूपये 5.50 प्रति युनिट तक होना चाहिए । शॉपिग मॉल एवं बडे शो-रूम में औसत लागत विधुत दर रूपये 9.61 प्रति युनिट लग रही है। जो औसत दर 120 प्रतिषत राष्ट्रीय नियम के अनुसार रूपये 7.50 प्रति युनिट तक होनी चाहिए । कैट के उक्त मांग को स्वीकार करने का कृपा करेगे।

छत्तीसगढ़ राज्य नियामक आयोग को सुझाव देने कैट सी.जी. चैप्टर का एक प्रतिनिधी मंड़ल गया था। जिसमें विक्रम सिंह देव, जितेन्द्र दोषी, परमानन्द जैन, एवं श्याम काबरा शामिल थे।

Back to top button