होटल के कमरे में एक अनजान शख्स के साथ अपनी पत्नी को पकड़ा रंगे हाथों

अलीपुरद्वार थाने से भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया और स्थिति को संभाला

कोलकाता:बंगाल के अलीपुरद्वार शहर में चौपाटी के एक एलीट होटल में होटल के कमरे में एक अनजान शख्स के साथ शख्स ने अपनी पत्नी को रंगे हाथों पकड़ा. स्थानीय लोगों के हंगामे और घटना की जानकारी मिलने पर अलीपुरद्वार थाने से भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया और स्थिति को संभाला.

पुलिस ने इस घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस मामले में होटल के मालिक राजदीप घोष, होटल प्रबंधक विपुल कर और एक अन्य होटल कर्मचारी को कंचनजंगा होटल से गिरफ्तार किया गया है.

पकड़े जाने के बाद आरोपी महिला ने पुलिस को बताया कि उसके पति ने उसे होटल में भेजा था. महिला ने दावा किया कि उसके पति ने उसे उस अनजान आदमी के साथ होटल के कमरे में जाने और अश्लील तस्वीरें खींचकर उसे देने के लिए कहा था.

महिला ने कहा कि उसके पति ने उस आदमी को ब्लैकमेल कर उससे पैसे वसूलने की बात कही थी. लेकिन उस शख्स को इस बारे में पहले से जानकारी थी. वह इस तरह के काम में लंबे समय से शामिल था. महिला के पति का नाम समीर दास है, वो पेशे से एक बढ़ई है.

समीर की मानें तो महिला के इस काम को लेकर परिवार में लगातार अशांति बनी हुई थी. समीर दास ने कहा कि मैं काफी समय से उनकी हरकतों को देख रहा था. समीर ने पुलिस को बताया कि आज सुबह जब मैं घर से निकला तो मैंने उसका पीछा किया. फिर मैंने उसे एक होटल में अंदर जाते देखा.

समीर के मुताबिक इसके बाद उसने अपने दोस्तों को मोबाइल फोन से कॉल कर होटल के सामने बुलाया. फिर वो होटल में दाखिल हुआ. एक कमरे के अंदर से उसे अपनी पत्नी की आवाज सुनाई दी. इसके बाद उसने अपनी पत्नी को कमरे से बाहर आने के लिए कहा. तब वह शख्स निकलकर बाहर आया.

लेकिन होटल मैनेजर की मदद से वो आदमी वहां से भाग निकला, जो उसकी पत्नी के साथ कमरे में था. अलीपुरद्वार पुलिस थाने की पुलिस ने बताया कि इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. अब इस मामले की जांच की जा रही है.

उधर, स्थानीय व्यापारियों का कहना है कि इस होटल पर लंबे समय से आरोप लगते रहे हैं. यहां इस तरह के अवैध कृत्य होते रहे हैं. जिन्हें लेकर होटल के मालिक को पहले ही चेतावनी दी जा चुकी थी. लेकिन इसके बावजूद वो नहीं माना.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button