सीबीआई ने जीएसटी अधिकारियों को रिश्वत लेने के आरोप में किया गिरफ्तार

पुणे : जीएसटी कार्यालय में तैनात दो अधीक्षकों को सर्विस टैक्स का निपटान करने के लिए रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। मीडिया के मुताबिक, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बताया कि इन अधिकारियों ने वित्तीय वर्ष 2016-17 के लिए देय सर्विस टैक्स का निपटान करने के लिए एक व्यक्ति से 1 लाख रुपये की रिश्वत ली। दोनों आरोपियों को आज (मंगलवार) पुणे में सीबीआई मामलों के विशेष न्यायाधीश के समक्ष पेश किया जाएगा।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, शिकायत के आधार दोनों अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। शिकायत में आरोप लगाया गया कि दोनों आरोपियों ने देय सर्विस टैक्स का निपटान करने के लिए शिकायतकर्ता से तीन लाख रुपये की रिश्वत की मांग की थी।

इस जानकारी के बाद जांच एजेंसी ने प्लान बनाकर दोनों आरोपियों को रंगे हाथों पकड़ा। आरोपियों ने रिश्वत की पहली किस्त के रूप में एक लाख रुपये की मांग की थी। सीबीआई ने इस मामले में दोनों आरोपियों के कार्यालय और घर की तलाशी ली। जांच के दौरान सीबीआई ने चल-अचल संपत्तियों के अधिग्रहण और अन्य

एजेंसी ने एक जाल बिछाया और आरोपी को रंगे हाथ पकड़ा और कुल रिश्वत की पहली किस्त के रूप में एक लाख रुपये की रिश्वत देने की मांग की। एजेंसी ने पुणे में दोनों आरोपियों के कार्यालय और आवासीय परिसर में भी तलाशी ली। जांच के दौरान, सीबीआई ने चल और अचल संपत्तियों के अधिग्रहण और अन्य भेद खोलने वाले दस्तावेज बरामद किए हैं।

Back to top button