CBI के अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव ने फेरबदल कर की 20 अधिकारियों का ट्रांसफर

2जी घोटाला मामले की जांच करने वाले अधिकारी विवेक प्रियदर्शी भी शामिल

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सेलेक्शन कमेटी ने सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा को पद से हटा दिया था और अंतरिम डायरेक्टर नागेश्वर को चुना था. अब आगामी 24 जनवरी को सेलेक्शन कमेटी को नए सीबीआई डायरेक्टर की नियुक्ति के लिए मीटिंग करनी है.

ऐसे में सीबीआई के अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव ने नया फरमान जारी कर 20 अधिकारियों का ट्रांसफर करने का फैसला अहम माना जा रहा है. इनमें कुल 13 पुलिस ऑफिसर और सात एडिशनल एसपी शामिल हैं.

इन अधिकारियों में 2जी घोटाला मामले की जांच करने वाले अधिकारी विवेक प्रियदर्शी भी शामिल हैं. दिल्ली की एंटी करप्शन ब्रांच से ट्रांसफर करके प्रियदर्शी को चंडीगढ़ भेज दिया गया है. नागेश्वर राव ने ट्रांसफर के आदेश में ये साफ किया है कि संवैधानिक अदालतों के आदेश पर किसी भी मामले की जांच और निगरानी करने वाले अधिकारी अपने पद पर बने रहें.

आदेश के अनुसार, तमिलनाडु में स्टरलाइट-विरोधी प्रदर्शन गोलीबारी मामले की जांच कर रहे सरवनन को मुंबई की बैंकिंग, सिक्युरिटी एंड फ्रॉड इंवेस्टिगेशन ब्रांच भेजा गया है. ये ब्रांच हीरा व्यापारियों नीरव मोदी और मेहुल चोकसी समेत लोन फर्जीवाड़ा करने वालों की जांच कर रही है. स्टरलाइट-विरोधी प्रदर्शन के दौरान पुलिस की गोलीबारी में 13 लोग मारे गए थे.

आदेश में कहा गया है कि सरवनन स्टरलाइट-विरोधी प्रदर्शन गोलीबारी मामले की जांच जारी रखेंगे. सीबीआई की स्पेशल यूनिट में तैनात प्रेम गौतम को पदमुक्त कर दिया गया है. अभी तक उनका काम सतर्कता के लिए अधिकारियों पर नजर रखना था. वो आर्थिक मामलों की जांच जारी रखेंगे. गौतम की जगह राम गोपाल को दी गई है. वो चंडीगढ़ स्पेशल क्राइम ब्रांच से ट्रांसफर के बाद यहां आए हैं.

advt
Back to top button