प्रद्युम्न हत्याकांडः खतरे में पड़ी रायन स्कूल की मान्यता, CBSE ने 15 द‌िन में मांगा जवाब

प्रद्युम्न मामले में बनाई गई दो सदस्यीय सीबीएसई की कमेटी ने रायन इंटरनेशनल स्कूल की भोंडसी, गुरुग्राम ब्रांच से पूछा है कि क्यों ना उसकी मान्यता वापस ले ली जाए। कमेटी ने ‌शनिवार को स्कूल से पूछा कि मान्यता के कानून का पालन नहीं करने पर क्यों ना उसकी मान्यता रद्द कर दी जाए।

बता दें क‌ि 8 सितंबर को प्रद्युम्न की हत्या के बाद 9 सितंबर को सीबीएसई की दो सदस्यीय तथ्य जांचने वाली कमेटी गठित की गई थी। इस कमेटी ने शुक्रवार को अपनी रिपोर्ट पेश कर नियमों के उल्लंघन पर कई सवाल उठाए हैं। कमेटी ने स्कूल को कारण बताओ नोट‌िस जारी करते हुए जवाब देने के ल‌िए 15 द‌िन का समय द‌िया है।

हालांकि कमेटी ने कोई सुझाव नहीं दिया लेकिन इस रिपोर्ट के आधार पर बोर्ड ने स्कूल अथॉरिटी से नोटिस मिलने के 15 दिन के अंदर ये स्पष्ट करने को कहा है कि आखिर बोर्ड क्यों ना स्कूल की मान्यता रद्द कर दे या क्यों स्कूल के खिलाफ कोई कार्रवाई ना की जाए।

अपनी रिपोर्ट में कमेटी ने ये तो पाया ही है कि जो टॉयलेट बच्चे इस्तेमाल करते थे वही बस स्टाफ भी करते थे। इसके साथ ही स्कूल की बाउंड्री वॉल भी टूटी पाई गई है जिसे पार कर कोई भी स्कूल के अंदर घुस सकता है।

कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि स्कूल में सीसीटीवी कैमरों की संख्या कम होने के साथ ही जो लगे हैं वो काम नहीं करते। स्कूल की घोर लापरवाही की तरफ इशारा करती ये रिपोर्ट बताती है कि स्कूल प्रशासन ने अनुपयोगी जगह जैसे खाली क्लासरूम और टैरेस को बिना लॉक किए छोड़ रखा है।​

Back to top button