दूसरे चरण के वैक्सीनेशन से पहले केंद्र ने बढ़ाई कोरोना गाइडलाइंस

पढ़ें क्या हुआ बदलाव

केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के लिए कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर अपनी गाइडलाइंस 31 मार्च तक बढ़ा दी है. गृह सचिव अजय भल्ला ने इसे लेकर सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश को पत्र लिखा है कि कोरोना महामारी पर पूरी तरह काबू पाने के लिए अभी सावधानी बरतने और कड़ी निगरानी की जरूरत है.

यह खबर अभी-अभी ब्रेक हुई है. इस खबर को हम अपडेट कर रहे हैं. हमारी कोशिश है कि आपके पास सबसे पहले जानकारी पहुंचे. इसलिए आपसे अनुरोध है कि सभी बड़े अपडेट्स जानने के लिए इस पेज को रीफ्रेश कर लें. साथ ही हमारी अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए यहां .

इन नियमों को संबंधित अधिकारियों के द्वारा सख्ती से लागू की जानी चाहिए. राज्यों के भीतर और दो राज्यों के बीच लोगों या सामानों की आवाजाही में कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा. मेरा आपसे आग्रह है कि केंद्र सरकार की गाइडलाइंस का कड़े तौर पर पालन कराएं.”

गृह मंत्रालय की गाइडलाइंस

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लक्षित आबादी समूह का टीकाकरण करने में तेजी लाने की भी सलाह दी गई है, ताकि संक्रमण की ‘चेन’ को तोड़ा जा सके और महामारी को खत्म किया जा सके. मौजूदा दिशानिर्देशों के तहत सिनेमा हॉल और थियेटर को कहीं अधिक दर्शकों के साथ संचालित करने की अनुमति दी गई है, जबकि स्वीमिंग पूल को सभी के उपयोग के लिए अनुमति दी गई है. एक राज्य से दूसरे राज्य के बीच या एक राज्य के अंदर लोगों की आवाजाही तथा वस्तुओं की ढुलाई पर कोई पाबंदी नहीं है.

गृह मंत्रालय ने कहा कि इसे ध्यान में रखते हुए कंटेनमेंट जोन का सीमांकन सावधानीपूर्वक जारी रखा जाए, वायरस के प्रसार की रोकथाम से जुड़े दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन किया जाए, कोविड की रोकथाम में सहायक व्यवहार को बढ़ावा दिया जाए और सख्ती से लागू किया जाए तथा विभिन्न अनुमति प्राप्त गतिवधियों के सबंध में SOP का ईमानदारी से अनुपालन किया जाए. मंत्रालय ने कहा कि इसलिए 27 जनवरी को जारी दिशानिर्देशों एवं एसओपी को राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा सख्ती से लागू किये जाने की जरूरत है.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button