राजस्थान के पुष्कर में ‘भीम’ बना आकर्षण का केंद्र, करोड़ों में बताई कीमत

1200 किलोग्राम मुर्रा नस्ल के इस भैंसे का वजन

जयपुर :

दुनिया के सबसे बड़े पशु मेले में इस बार एक भैंसा आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। इस भैंसे की कीमत करीब 10 करोड़ रुपए बताई गई है। 5 साल में ही इस भैंसे ने अच्छा कद हासिल किया है। मुर्रा नस्ल के इस भैंसे का वजन करीब 1200 किलोग्राम है। इसके खाने-पीने और देखभाल में हर महीने करीब एक लाख रुपये का खर्च आता है।

खान-पान पर खर्च होते हैं करीब एक लाख रुपये</p>

भैंसे के मालिक जवाहरलाल जांगिड़ ने बताया कि भीम की डाइट अगर कोई सुन ले तो उसे शायद ही विश्वास होगा। ये रोजाना करीब एक किलो घी, करीब आधा किलो मक्खन, शहद, दूध और काजू-बादाम सबकुछ खाता है।

इसके भारी-भरकम खान-पान पर करीब 1 लाख का खर्च आता है। इसके अलावा एक किलोग्राम के सरसों के तेल से इसकी मालिश भी की जाती है। उन्होंने बताया कि इसकी देखभाल के लिए 4 लोगों को लगाया गया है।

ऊंचाई करीब 6 फीट और लंबाई 14 फीट है

जवाहरलाल जांगिड़ ने बताया कि ‘भीम’ की उम्र पांच साल है और इस उम्र में ही इस भैंसे ने अपने हम उम्र दूसरे भैंसों से काफी बड़ी कद-काठी में प्राप्त कर लिया है। इस भैंसे की ऊंचाई करीब 6 फीट और लंबाई 14 फीट है।

बताया जा रहा है कि राजस्थान के उदयपुर जिले में आयोजित एक एग्रो टेक किसान मेले में भीम ने सबसे ताकतवर भैंसा होने का खिताब भी जीता था।

5 साल में ही इस भैंसे ने हासिल किया अच्छा कद

जवाहरलाल जांगिड़ ने बताया कि उनके पास भीम भैंसे को खरीदने के लिए कई लोग आ चुके हैं, लेकिन उन्होंने इसे बेचने से मना कर दिया। उनका कहना है कि वे भीम भैंसे के जरिये भैंसों की नस्ल सुधारना चाहते हैं।

बता दें कि भीम के पहले सुल्तान और युवराज नाम के भैंसों ने भी खासी चर्चा बटोरी थीं। इनकी कीमत भी करोड़ों में आंकी गई थी। ‘युवराज’ भैंसे की कीमत करीब सात करोड़ रुपये आंकी गयी थी।

advt
Back to top button