सेंट्रल लाइब्रेरी में बिजली बंद 30 घंटे तक नहीं मिला नो ड्यूज

अजय शर्मा :

बिलासपुर:

गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा व्यवस्था दुरुस्त होने का दावा फिर खोखला साबित हुआ है. सेंट्रल लाइब्रेरी में 30 घंटे तक बिजली बंद होने से स्टूडेंट को नो ड्यूज नहीं मिला. समस्या के चलते दिनभर इधर उधर भटकते रहे.

केंद्रीय विश्वविद्यालय में इन दिनों अलग-अलग विभागों में काउंसिलिंग की प्रक्रिया चल रही है. विभागवार स्थानांतण का अंतिम दिन 18 जुलाई था. इस बीच कई स्टूडेंट अंकसूची के लिए अप्लाई भी किए हैं.

जिन्हें अंकसूची प्राप्त करने में काफी असुविधा हुई. दरअसल 17 जुलाई को सेंट्रल लाइब्रेरी की बिजली गुल हो गई. अधिकारी स्टूडेंट का डिटेल चेक नहीं कर पा रहे थे. जिसकी वजह से नो ड्यूज जारी नहीं हो सका.

पूरा दिन बिजली नहीं आया। इस बीच विश्वविद्यालय ऐसी कोई व्यवस्था नहीं कर सका जिससे छात्रों को राहत मिल सके. विश्वविद्यालय में प्रवेश लेने वाले स्टूडेंट काफी परेशान दिखे.

आखिरकर दूसरे 18 को छात्र परिषद के पदाधिकारियों ने दबाव बनाया तो दोपहर तक बिजली आ गई. पता चला कि ट्रांसफर में दिक्कत होने के कारण यह स्थिति उत्पन्न हुई है.

कुछ छात्रों ने नईदुनिया को यह भी बताया कि जनरेटर व बैटरी बैकअप तक नहीं था. मामले पर मीडिया प्रभारी प्रोण्प्रतिभा जे मिश्रा से मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उन्होंने कॉल रिसीव नहीं किया. जिसकी वजह से प्रबंधन का पक्ष नहीं आ सका.

Back to top button