छत्तीसगढ़

अमित व विधायक डॉ. रेणु जोगी की न्याय यात्रा पर केन्द्रीय पर्यवेक्षक ने शुरू कराई जांच

कांग्रेस ने चुनाव आयोग व जिला निर्वाचन अधिकारी से शिकायत की थी

मरवाही: मरवाही में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष अमित जोगी व विधायक डॉ. रेणु जोगी की न्याय यात्रा पर केन्द्रीय पर्यवेक्षक ने जांच शुरू कराई है। इस यात्रा के खिलाफ कांग्रेस ने चुनाव आयोग व जिला निर्वाचन अधिकारी से शिकायत की थी। उनका आरोप है कि उनकी सभाओं मे उपस्थित लोग भाजपा को वोट देने की अपील कर रहे हैं और मतदाताओं को सामग्री की पर्चियां बांटकर प्रलोभन दे रहे हैं।

कांग्रेस विधि प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष संदीप दुबे ने निर्वाचन आयोग तथा जिला निर्वाचन अधिकारी से की गई शिकायत में कहा था कि अमित जोगी व उनकी मां विधायक डॉ. रेणु जोगी मरवाही क्षेत्र में बिना अनुमति न्याय-यात्रा निकाल रहे हैं। वे स्व. अजीत जोगी की किताब बांटने के बहाने मतदाताओं से सम्पर्क कर रहे हैं। यह सीधे-सीधे चुनाव को प्रभावित करने का मामला है, जबकि वे प्रत्याशी नहीं है और किसी तरह की अनुमति चुनाव आयोग या निर्वाचन कार्यालय से नहीं ली गई है।

न्याय यात्रा के दौरान हाट-बाजारों में वे सभायें ले रहे हैं जबकि क्षेत्र में महामारी के कारण धारा 144 प्रभावी है। दुबे का कहना है कि उनके साथ चल रहे समर्थक मतदाताओं से भाजपा को वोट देने के लिये कह रहे हैं। साड़ी कम्बल आदि सीधे नहीं बांटा जा रहा है बल्कि पर्चियां दी जा रही है जो बाद में दुकानों से उठाई जा रही है।

दुबे ने बताया कि उन्होंने 25 अक्टूबर को ई मेल के जरिये चुनाव आयोग को शिकायत की थी। इसके बाद केन्द्रीय पर्यवेक्षक आईएएस जे एस गौतम तथा जिला निर्वाचन अधिकारी डोमन सिंह से मुलाकात कर इस सभाओं पर रोक लगाने की मांग की।

कलेक्टर ने बताया कि इस न्याय यात्रा के लिये वाट्सएप पर अनुमति मांगी गई थी, हमने नहीं दी और इसका जवाब भी वाट्सएप पर ही दे दिया। उन्होंने आज इस मामले की जांच शुरू कर दी है और 24 घंटे के भीतर कार्रवाई की बात कही है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button