केंद्रीय जेल के कैदी कम्प्यूटर सीखकर बनेंगे आत्मनिर्भर

केंद्रीय जेल बिलासपुर में कम्प्यूटर प्रशिक्षण केंद्र का लोकार्पण किया कलेक्टर ने

रिपोर्टर : प्रणव कुमार

रेडक्रास से दिया गया है 10 कम्प्यूटर
बिलासपुर 06 फरवरी 2020। केंद्रीय जेल बिलासपुर में कैदियों को कम्प्यूटर सिखाया जाएगा। जिससे वे आधुनिक टेकनालाॅजी से जुड़ेंगे और आत्म निर्भरता हासिल करेंगे। इसके लिए केंद्रीय जेल को भारतीय रेडक्रास सोसायटी शाखा बिलासपुर द्वारा 10 कम्प्यूटर प्रदाय किया गया है। रेडक्रास सोसायटी के अध्यक्ष एवं कलेक्टर डा. संजय अलंग ने आज जेल में कम्प्यूटर प्रशिक्षण केंद्र का लोकार्पण किया।

केंद्रीय जेल के कैदी कम्प्यूटर सीखकर बनेंगे आत्मनिर्भर

इस अवसर पर कलेक्टर ने कहा कि कम्प्यूटर प्रशिक्षण देने का उद्देश्य कैदियों को व्यस्त रखना है। जिससे उनकी सोच सकारात्मक होगी। उन्होंने कहा कि यदि यह कार्य उनको रूचिकर लगता है तो इसे और इसे और बढ़ाया जाएगा।

कलेक्टर ने केंद्रीय जेल में की गई अभिनव पहल की सराहना की। जिसमें जेल को कौशल विकास के अंतर्गत व्ही.टी.पी. के रूप में पंजीकृत कराया गया है। इस पहल से कैदी कौशल विकास के कार्यों से जुड़ रहे हैं।

केंद्रीय जेल के कैदी कम्प्यूटर सीखकर बनेंगे आत्मनिर्भर

वर्तमान में यहां तीन ट्रेड सोफा निर्माण, सिलाई कार्य एवं एसी रिपेयर्स कार्य में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण के बाद उन्हें प्रमाण-पत्र भी मिलेगा। कलेक्टर ने कम्प्यूटर प्रशिक्षण को भी ट्रेड मेें शामिल करने कहा। उन्होंने कहा कि इन कार्यो के अलावा कैदियों को खेल, योग व अन्य गतिविधियों से जोड़ा जाए। जिससे वे व्यस्त रहेंगे और उनका मन भी शांत रहेगा।

केंद्रीय जेल के कैदी कम्प्यूटर सीखकर बनेंगे आत्मनिर्भर
कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर गौरीदत्त शर्मा ने कहा कि कम्प्यूटर प्रशिक्षण लेकर कैदी छत्तीसगढ़ शासन की नये नये कार्यक्रमों से जुड़ सकेंगे। उन्होंने बताया की अटल बिहारी वाजपेयी युनिर्वसिटी में जेल के कैदियों द्वारा बनाये गये फर्नीचर ही क्रय किये जाते हैं।

इस तरह कैदियों के भविष्य एवं उनके परिवार के लिए युनिर्वसिटी योगदान दे रहा है। उन्होंने कैदियों को योग प्रशिक्षण देने की पहल की। हर रविवार को विश्वविद्यालय के योग शिक्षक जेल में कैदियों को योग सिखाएगें।

केंद्रीय जेल के कैदी कम्प्यूटर सीखकर बनेंगे आत्मनिर्भर
इस अवसर पर जेल अधीक्षक एस. के. मिश्रा ने भारतीय रेडक्रास सोसायटी द्वारा जेल में समय-समय पर किये गये कार्यों का उल्लेख किया। उन्होंने बताया कि पूर्व मे तीन कम्प्यूटर सेट और कैदियों के लिए गद्दे प्रदाय किये गये थे। साथ ही कैदियों के परिजनों के लिए प्रतिक्षालय निर्माण कराया गया था। इन कार्यो के लिए रेडक्रास सोसायटी का आभार माना।

रेडक्रास सोसायटी के समन्वयक सौरभ सक्सेना ने बताया कि जेल को 5 लाख 90 हजार रूपये मूल्य के नवीनतम साफ्टवेयर के कम्प्यूटर सेट प्रदाय किये गये हैं।

कार्यक्रम का संचालन जेलर वाजपेयी ने किया। आभार प्रदर्शन उप जेल अधीक्षक यू. के. पटेल ने किया। इस अवसर पर मुख्यचिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी प्रमोद महाजन, एसडीएम बिलासपुर देवेंद्र पटेल, डिप्टी कलेक्टर  अंशिका पांण्डेय, रेडक्रास सोसायटी के सदस्य  निरूपमा वाजपेयी, प्रमोद शर्मा, अरूण चैहान, सुधीर खंडेलवाल, जयश्री शुक्ला, गीता रजक आदि उपस्थित थे

इसके साथ ही कलेक्टर ने किया केन्द्रीय जेल का निरीक्षण

बिलासपुर 06 फरवरी 2020। कलेक्टर डाॅ.संजय अलंग ने केन्द्रीय जेल बिलासपुर का निरीक्षण किया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।
कलेक्टर ने जेल के पंजी का निरीक्षण किया। सभी बैरकों का बारी-बारी से निरीक्षण किया और वहां की व्यवस्था देखी। उन्होंने कैदियों से बातचीत भी की। कैदियों को मिलने वाले भोजन का निरीक्षण किया और उसे चखकर भी देखा।

केंद्रीय जेल के कैदी कम्प्यूटर सीखकर बनेंगे आत्मनिर्भर

कैदियों के लिये संचालित गतिविधियों के बारे में जानकारी ली। महिला कैदियों के बैरक में भी गये। उन्होंने महिला एवं पुरूष कैदियों को योगाभ्यास कराने के निर्देश भी दिये। कलेक्टर के जेल निरीक्षण के दौरान एक कैदी लखारू प्रसाद खांडे ने कलेक्टर से गुहार लगाई कि उन्होंने दो वर्ष पहले दया याचिका लगाई है। लेकिन उस पर अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। कलेक्टर ने उनकी याचिका पर उचित कार्यवाही के लिये भरोसा दिलाया।

निरीक्षण में उनके साथ जेल अधीक्षक एस.के.मिश्रा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

केंद्रीय जेल के कैदी कम्प्यूटर सीखकर बनेंगे आत्मनिर्भर

Tags
Back to top button