बच्चे को परीक्षा की तैयारी कराने को भी महिला कर्मियों को अवकाश देगी CG सरकार

रायपुर।

छत्तीसगढ़ की सरकारी महिला कर्मी भी अब अपने बच्चों को परीक्षा की तैयारी कराने या बीमार होने पर उनकी देखभाल के लिए छुट्टी ले सकती हैं। सरकार पूरे सेवाकाल के दौरान उन्हें संतान पालन-पोषण के लिए 730 दिन का अवकाश देगी।

इस कोटे में एक बार में कम से कम पांच दिन और एक कैलेंडर वर्ष में अधिकतम तीन बार छुट्टी ली जा सकती है। वित्त विभाग ने गुस्र्वार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। हाइकोर्ट के निर्देश पर सरकार ने यह आदेश जारी किया है। करीब महीनेभर पहले ही उच्च न्यायालय ने केंद्र व मध्य प्रदेश सरकार की तरह चाइल्ड केयर लीव लागू करने का निर्देश दिया था।

-18 वर्ष से कम उम्र के दो बच्चों पर ही लागू होगी योजना

महिला कर्मी चाइल्ड केयर लीव 18 वर्ष से कम उम्र की केवल दो संतान के लिए ही ले सकेंगी। यह अवकाश भी अर्जित अवकाश के समान माना जाएगा और उसी तरह स्वीकृत होगा। इस अवकाश का किसी अन्य अवकाश के साथ समायोजन भी नहीं किया जाएगा।

-छुट्टी का दावा अधिकार के रूप में नहीं किया जा सकता

आदेश में कहा गया है कि संतान पालन अवकाश का दावा अधिकार के रूप में नहीं किया जा सकेगा। किसी भी परिस्थिति में विधिवत अवकाश स्वीकृत होने के बाद ही महिला शासकीय कर्मचारी अवकाश पर जा सकेंगी।

Back to top button