एक और विवाद में घिरे चंद्राकर, निजी चिकित्सकों को धमकाने पर भड़का आईएमए

रायपुर:

स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर इन दिनों एक के बाद एक विवादों के चलते सुर्ख़ियों में है. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के अस्थि कलश मंच पर ठहाके को लेकर उपजे विवाद के बाद आईएमए ने भी उनके एक बयान को लेकर मोर्चा खोल दिया है. पिछले दिनों स्वास्थ्य मंत्री द्वारा प्रदेश निजी चिकित्सकों को लेकर दिए गए बयान पर कड़ी आपत्ति जताते हुए आईएमए ने कड़ी निंदा की है. इसे लेकर आईएमए द्वारा बकायदा एक प्रेस कान्फ्रेंस भी किया गया. जिसमें कहा गया है कि मंत्री अजय चंद्राकर का बयान कतई स्वीकार नहीं है और इस तरह की धमकी भरी बातों की हम निंदा करते हैं.

भिलाई दुर्ग सहित पुरे प्रदेश में इन दिनों डेंगू का कहर जारी है. स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर ने अब तक डेंगू ग्रस्त किसी भी इलाके का दौरा तक नहीं किया है लेकिन मंत्री जी ने निजी चिकित्सकों को चेतावनी जारी कर कहा था कि निजी डॉक्टर डेंगू मरीजों का निशुल्क इलाज करें नहीं तो कार्रवाई करेंगे.

मंत्री के इस धमकी भरे बयान की निंदा करते हुए आईएमए ने कहा है- गहन खेद व दुख की बात है कि प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री ने स्थिति की गंभीरता को संज्ञान में ना लेकर निजी चिकित्सकों को अपना निशाना बनाने की कोशिश की है. जबकि प्रदेश के निजी चिकित्सक व चिकित्सालय नुकसान उठाकर भी शासन की सभी योजनाओं को जनहित में कार्यान्वित करते रहते हैं.

Back to top button