नया रायपुर बनने से अभनपुर क्षेत्र की बदली तस्वीर: डॉ. रमन सिंह

-मुख्यमंत्री ने अभनपुर में लगभग 345 करोड़ रूपए के विकास कार्यो का किया लोकार्पण एवं भूमिपूजन

रायपुर।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि नया रायपुर बनने से अभनपुर और आस-पास के क्षेत्र की तस्वीर ही बदल गई है। नया रायपुर जिसे अब अटल नगर के नाम से जाना जा रहा है, यहां हुए विकास कार्यो का लाभ अभनपुरवासियों को भी मिल रहा है।

किसी ने भी यह नही सोचा था कि नेरो गेज रेल्वे लाईन, ब्रॉड ग्रेज लाईन में बदलेगी। लेकिन अब इतिहास बदल रहा है, रायपुर से केन्द्री तक छोटी रेल लाईन में एक्सप्रेस-वे का निर्माण और केन्द्री से अभनपुर होते धमतरी तक नेरो गेज रेल्वे लाईन के ब्रॉड गेज रेल्वे लाईन में विस्तार से इस क्षेत्र के विकास को एक नई ऊचाई मिलेगी।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अटल विकास यात्रा के तहत आज रायपुर जिले के विकासखण्ड मुख्यालय अभनपुर में आयोजित आमसभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने इस अवसर पर करीब 345 करोड़ रूपए के 556 विभिन्न विकास कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। उन्होंने इस दौरान करीब साढ़े 11 हजार हितग्राहियों को केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के तहत 21 करोड़ 50 लाख रूपए लागत की सामग्री और अनुदान राशि के चेक भी प्रदान किए।

मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आगे कहा कि सरकार द्वारा गरीब परिवारों को एक रूपए की दर से चावल, किसानों की मेहनत का उन्हें वाजिब दाम देने समर्थन मूल्य पर धान खरीदी, किसानों और गरीब परिवारों को फ्लेट दर पर बिजली, प्रदेश के अमीर-गरीब सभी परिवारों का साल में 50 हजार तक निःशुल्क ईलाज की सुविधा, महिलाओं और कॉलेज के छात्रों को स्मार्टफोन, महिलाओं को गैस चूल्हा, बेटियों को स्कूल जाने के लिए सायकल, बेटियों के जन्म पर 5 हजार रूपए जैसी अनेक योजनाएं संचालित की जा रही है।

ये सिर्फ योजनाएं नहीं बल्कि इससे लोगों के जीवन में परिवर्तन आया है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश के गरीब परिवारों को गंभीर बीमारियों के ईलाज के लिए आयुष्मान भारत की सौगात दी गई है। इससे अब गरीब परिवारों को बीमारी के ईलाज के लिए कहीं से पैसे लेने की जरूरत नही पड़ेगी बल्कि 5 लाख तक के ईलाज की सुविधा इससे मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अभनुपर एक कृषि प्रधान क्षेत्र है, प्रदेश के किसानों से आगामी एक नवंबर से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की जाएगी और इस बार धान बेचने के दिन ही धान की कीमत और बोनस की राशि किसानों के खाते में जमा कर दी जाएगी। इस बार किसानों को प्रति क्विंटल 2050 और 2070 रूपए मिलेंगे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रायपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद रमेश बैस ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में संचालित योजनाओं को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सराहा गया है और वो मॉडल के रूप में स्थापित हुई है। कलेक्टर डॉ. बसवराजु एस. ने जिले का विकास प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।

इस मौके पर छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष देवजी भाई पटेल, छत्तीसगढ़ राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष चंद्रशेखर साहू, छत्तीसगढ़ अपेक्स बैंक के अध्यक्ष अशोक बजाज, छत्तीसगढ़ बीज विकास निगम के अध्यक्ष श्याम बैस, बीरबांव नगर निगम की महापौर अंबिका यदु, नगर पंचायत अभनपुर के अध्यक्ष कुंदन बघेल, गोबरा-नवापारा नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष विजय गोयल, रायपुर संभाग के आयुक्त जी.आर. चुरेन्द्र, रायपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक दीपांशु काबरा, जिला पंचायत रायपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी दीपक सोनी सहित बड़ी संख्या में नागरिकगण और पंचायत पदाधिकारी उपस्थित थे।

Back to top button