पहली बार छत्तीसगढ़ विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे चरणदास महंत

रायपुर।

चरणदास महंत 25 साल बाद विधानसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं। सक्ती सीट से उनका नाम स्क्रीनिंग कमेटी को भेजा गया है। आपको बता दें कि इस सीट से किसी और उम्मीदवार का नाम नहीं भेजा गया है, इससे यह तय हो जाता है कि चरणदास महंत का नाम तय हो जाएगा। नामों की सूची कलिता दिल्ली लेकर चले गए हैं।

चरणदास महंत ने चुनाव लड़ने के लिए ब्लॉक कमेटी के पास कोई आवेदन नहीं किया था। बताया जा रहा है कि अलाकमान के कहने पर उनका नाम विशेष रूप से जोड़ा गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मोतीलाल वोरा ने उन्हें रायपुर दौरे के समय यह बता दिया था कि आलाकमान इस बार उन्हें चुनाव लड़ाना चाहती है।

सक्ती के कई कार्यकर्ताओं ने अपने आवदेन में लिखा है कि वे इस सीट से चरणदास महंत को लड़ाना चाहते हैं। ऐसा पहली बार होगा जब वह छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिए चुनाव लड़ेंगे।

उन्होंने आखिरी बार चुनाव 1993 में लड़ा था, मध्यप्रदेश में चुनाव जीतने के बाद उन्होंने गृहमंत्रालय और जनसंपर्क का जिम्मा संभाला था। पर 1998 में दिग्विजय सिंह ने उन्हें लोकसभा भेज दिया। 2012 से 2014 तक महंत यूपीए सरकार में केंद्रीय कृषिराज्य मंत्री थे। लेकिन 2014 के चुनाव में वे करीब 4 हज़ार वोटों से हार गए थे।

Back to top button