ईई आलोक अग्रवाल के खिलाफ स्पेशल कोर्ट में चार्जशीट दाखिल

बिलासपुर।

प्रवर्तन निदेशालय ने जल संसाधन विभाग के बिलासपुर में तैनात तत्कालीन जल संसाधन विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर आलोक अग्रवाल के खिलाफ विशेष अदालत में चार्जशीट दायर की है।
ईडी की ओर से दाखिल चार्जशीट 1200 से अधिक पन्नों की है।

बता दें कि छापे के दौरान आलोक अग्रवाल के पास से 7.50 करोड़ कैश बरामद हुआ था। मामले में ईडी की ओर से मामले में आलोक अग्रवाल, पवन अग्रवाल, अलका अग्रवाल सहित कुल सात लोगों को आरोपी बनाया गया है। ईडी ने इस मामले में जल संसाधन विभाग के इंजीनियर इन चीफ कुठारे का नाम सामने आने के बाद उनसे भी पूछताछ की थी।

-जाने पूरा मामला

बता दें कि ईओडब्लू और एसीबी को 2014 में जल संसाधन विभाग के खारंग डिवीजन के प्रभारी एग्जिक्यूटिव इंजीनयिर आलोक अग्रवाल के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति बनाने की शिकायत मिली थी। जांच के बाद ईओडब्लू ने एसीबी के साथ मिलकर अग्रवाल के घर पर छापा मारा था।

छापे के दौरान आलोक अग्रवाल उसके भाई पवन अग्रवाल और बचपन के दोस्त र पार्टनर अभीष स्वामी से करोड़ों रुपए की संपत्ति जब्त की गई थी। जिसके बाद सभी आरोपियों पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर उन्हें जेल भेजा गया था।

बता दें कि आलोक अग्रवाल की 1992 में जल संसाधन विभाग में नियुक्ति हुई थी। 1992 से जनवरी 2015 के बीच वे सहायक अभियंता, उप अभियंता और कार्यपालन अभियंता के पद में पदस्थ रहे। इस बीच उनकी मूल आय 17 करोड़ 90 लाख 80 हजार के लगभग बनती है। इसके उल्टे उन्होंने 23 साल में 31 करोड़, 23 लाख, 67 हजार से अधिक की संपत्ति जुटा ली है। इस तरह आलोक अग्रवाल का परिवार प्रतिवर्ष 1 करोड़ से भी अधिक की आय अर्जित करता रहा है।

Back to top button