छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ मातृत्व सुरक्षा की खुली पोल, तीन हाथ वाली बच्ची का जन्म

विकल्प तललवार

बिलासपुर। बिलासपुर के अंतर्गत तखतपुर के एक गांव दैजा में महिला ने तीन हाथ वाली बच्ची को जन्म दिया है। तीन हाथ वाली बच्ची के जन्म की खबर के साथ ही उसे देखने वालों का तांता लग गया।

वहीं गांव वालों ने बच्ची को देवी का अवतार मानकर उसकी पूजा अर्चना शुरू कर दी है। इसके बाद से ही बच्ची को फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। ग्राम दैजा निवासी शिव कुमार साहू की पत्नी राधिका ने 2 नवंबर को घर पर ही बेटी को जन्म दिया था।

तीन माह की बच्ची को मान रहे देवी का स्वरूप

डॉक्टरों ने चेकअप के बाद बच्ची को एकदम सामान्य बताया। घर की महिलाओं ने बताया बच्ची के सीधे हाथ की तरफ एक और हाथ है। तीन हाथों वाली इस बच्ची को गांव के लोग देवी का अवतार मान रहे हैं।

बच्ची को देवी मान दूर गांव के लोग भी उसके दर्शन को पहुंच रहे हैं।वहीं परिजनों ने बेटी के जनम पर खुशी व्यवक्त करते हुए उसका नाम दिपांजली रखा है। दिपांजली अपने माता-पिता की तीसरी संतान है उसके दो बड़े भाई हैं।

मातृत्व सुरक्षा योजना की खुली पोल

एक तरह से देखा जाए तो तीन हाथ वाली बच्ची के जन्म से मातृत्व सुरक्षा योजना की पोल भी खुल गई है। क्योंकि गर्भाधारण के समय एक बार भी महिला का चेकअप नहीं कराया गया। साथ ही महिला का प्रसव भी घर पर ही हुआ।

इन सबसे साफ जाहिर होता है कि गांव की महिलाओं की मॉनि​टरिंग सही तरीके से नहीं हो रही है। इस मामले में चिकित्सकों का कहना है कि इसे कंजेनाएटल एनामली कहते हैं। इस तरह का मामला लाखों में एक होता है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
छत्तीसगढ़ मातृत्व सुरक्षा की खुली पोल, तीन हाथ वाली बच्ची का जन्म
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags
Back to top button