छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़:भाजपा की राज्यपाल से मांग, यूनिवर्सिटी की परीक्षा में आंसरशीट कॉलेज से लेने की बाध्यता खत्म करें

उत्तर पुस्तिका महाविद्यालय से प्रप्त करने का आदेश अव्यवहारिक और कोरोना संकट में ऑनलाइन परीक्षा के उद्देश्य को समाप्त करने वाला हैं

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय की ऑनलाइन परीक्षा में उत्तर पुस्तिका के वितरण को अव्यवहारिक एवं ऑनलाइन परीक्षा के उद्देश्य को समाप्त करने वाला बताते हुए महामहिम राज्यपाल को पत्र लिख कर ऑनलाइन परीक्षा के उद्देश्य को बरकरार रखने की मांग की हैं।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि पूरा प्रदेश कोरोना संकट के भीषण दौर से गुजर रहा हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से प्रदेश की जनता चिंतित हैं। समाज का हर वर्ग इस संकट से जूझ रहा हैं, ऐसे में छात्र भी इससे अछूते नहीं हैं स्वास्थ्य की चिंता के बीच छात्रों की परीक्षा भी कोरोना संकट के चलते बाधित रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट और लगातार कोरोना के विस्तार को देखते हुए अन्य विश्वविद्यालयों की भांति पं. रविशंकर शुक्ल विश्व विद्यालय द्वारा ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की जा रही हैं,

परंतु छत्रों को ऑनलाइन परीक्षा के लिए उत्तर पुस्तिका अपने अपने महाविद्यालय से प्रप्त करने का आदेश न सिर्फ अव्यवहारिक हैं बल्कि कोरोना संकट के बीच आयोजित ऑनलाइन परीक्षा के उद्देश्य को ही समाप्त करने वाला और छात्र छात्राओं के स्वास्थ को जोखिम में डालने वाला हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब पूरा प्रदेश कोरोना संकट से जूझ रहा हैं। छात्र छात्राओं सहित पालकों व अभिभावकों के बीच भी विश्व विद्यालय के इस अव्यवहारिक निर्णय से भय एवं चिंता व्याप्त हैं। कैसे छात्र छात्राएं कोरोना संकट के बीच अपनी जान जोखिम में डाल कर सिर्फ उत्तर पुस्तिका लेने महाविद्यालय पहुंचेंगे।

पब्लिक ट्रांसपोर्ट सहित अन्य जन सुविधएं भी पहले जैस सहज सरल नहीं रहे हैं। प्रदेश में कोरोना तेजी से फैल रहा हैं और कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए ही हम ऑनलाइन परीक्षा प्रणाली को अपना रहे हैं ऐसे में उत्तर पुस्तिका के लिए परीक्षार्थियों को बुलाना कहां तक उचित हैं।

भाजपा प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि ऑनलाइन परीक्षा का जो मूल उद्देश्य हैं, उसकी पूर्ति व इस कोरोना संकट के समय में छात्रों के स्वास्थ्य एवं जीवन की चिंता करते हुए हमने मांग की हैं कि ऑनलाइन परीक्षा की उपयोगिता और उद्देश्य को पूरा करते हुए देश के अन्य विश्वविद्यालयों में आयोजित ऑनलाइन परीक्षा जिसमें उत्तर पुस्तिका महाविद्यालयों से लेने की बाध्यता नहीं थी। छात्र छात्राएं स्वयं की उत्तर पुस्तिकाओं की स्कैन कॉपी विश्व विद्यालय को परीक्षा उपरांत भेज सकें ऐसी व्यवस्था बनाने की मांग की हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button