छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ चुुनाव: स्ट्रांग रूम के पास लैपटॉप का इस्तेमाल कर रहा था जवान, ड्यूटी से हटाया

कन्हैया केशरवानी

बिलासपुर।

विधानसभा चुनावों के मद्देनजर ईवीएम और स्ट्रांग रूम को लेकर उठे सवाल खत्म नहीं हो रहे हैं। छत्तीसगढ़ में ऐसा ही एक मामला सामने आया है जन से कथित रूप से लैपटॉप बरामद होने के बाद कांग्रेस ने चुनाव परिणाम को प्रभावित करने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। बेमेतरा जिले के अधिकारियों ने बताया कि इस घटना के बाद बीएसएफ के 175वीं बटालियन के उप निरीक्षक विक्रम कुमार मेहरा को स्ट्रांग रूम की सुरक्षा से हटा दिया गया है।

जिले के कलेक्टर महादेव कावरे ने बताया कि मंगलवार को कांग्रेस ने स्ट्रांग रूम की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाया था। कांग्रेस ने कहा था कि मंडी परिसर स्थित स्ट्रांग रूम के करीब सुरक्षा अधिकारी लैपटॉप का उपयोग कर रहे हैं। कावरे ने बताया कि कांग्रेस की शिकायत के बाद राजनीतिक दल के सामने ही मेहरा से लैपटॉप बरामद किया गया। मेहरा को स्ट्रांग रूम की सुरक्षा से हटा दिया गया है और उनके स्थान पर अन्य अधिकारी को तैनात कर दिया गया है।

कलेक्टर ने बताया कि अभी तक मिली जानकारी के अनुसार मेहरा स्ट्रांग रूम से बाहर बने गार्ड कक्ष में लैपटॉप का उपयोग कर रहे थे। तकनीकी जानकारों के सहयोग से लैपटॉप की जांच की गई है। जांच के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि बेमेतरा के स्ट्रांग रूम में बेमेतराए नवागढ़ और साजा विधानसभा सीट के ईवीएम रखे गए हैं।

कांग्रेस ने लगाया आरोप

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि राज्य में चुनाव परिणाम को प्रभावित करने का प्रयास किया जा रहा है। कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग और राज्य सरकार से मामलों को गंभीरता से लेते हुए तत्काल जांच और कार्रवाई करने की मांग की है। छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि निर्वाचन संहिता के अनुसार इलेक्ट्रानिक उपकरण स्ट्रांग रूम के आसपास प्रतिबंधित है। इसके बावजूद लगातार ऐसी घटनाएं प्रकाश में आ रही हैं, जो कि प्रशासनिक कार्यप्रणाली पर सवाल उठा रही है।

सिंहदेव ने कहा है कि 27 नवंबर को धमतरी जिले के लाईवलीहुड कॉलेज स्थित स्ट्रांग रूम में एक जिम्मेदारी अधिकारी चार लोगों के साथ लैपटॉप व अन्य उपकरण के साथ लगभग तीन घंटे तक नियम विरूद्ध तरीके से रहा। इसी प्रकार बलौदाबाजार जिले में भी स्ट्रांग रूम की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाया गया है। बलौदाबाजार के स्ट्रांग रूम के पीछे के हिस्से में संदिग्धों की आवाजाही देखी गई। ऐसी शिकायतें राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से प्राप्त हो रही हैं।

सिंहदेव ने कहा है कि इसी क्रम में मंगलवार को बेमेतरा जिले के स्ट्रांग रूम परिसर में बीएसएफ के एक जवान को लैपटॉप का उपयोग करते पाया गया। जबकि इस क्षेत्र में किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रानिक उपकरणों के इस्तेमाल पर पूर्णतः प्रतिबंध है। ऐसे दोषी जवान को तत्काल निलंबित कर वहां से हटाया जाए तथा उसके खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही हो। नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि धमतरी, बेमेतरा और अन्य जगहों पर हुई ऐसी घटनाओं को निर्वाचन आयोग तथा राज्य सरकार गंभीरता से लेते हुए तत्काल जांच और कार्रवाई करे।

छत्तीसगढ़ में 90 सदस्यीय विधानसभा के लिए दो चरणों में 12 नवंबर और 20 नवंबर को मतदान हुआ है। मतदान के बाद ईवीएम को स्ट्रांग रूम में रखा गया है। इस महीने की 11 तारीख को मतों की गिनती की जाएगी।

Summary
Review Date
Reviewed Item
छत्तीसगढ़ चुुनाव: स्ट्रांग रूम के पास लैपटॉप का इस्तेमाल कर रहा था जवान, ड्यूटी से हटाया
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags