छत्तीसगढ़ पूरे देश में मॉडल के रूप में उभरा: नक्सल प्रभावित राज्य होने के बावजूद कहीं नहीं हुआ पुनर्मतदान

रायपुर. छत्तीसगढ़ ने देश में एक बार फिर रि-पोल फ्री स्टेट होने का ऐतिहासिक कीर्तिमान स्थापित किया है. छत्तीसगढ़ देश का इकलौता ऐसा राज्य बन गया है जहां पुनर्मतदान की स्थिति निर्मित नहीं हुई. चाहे वह विधानसभा और लोकसभा के आम निर्वाचन हो या दंतेवाड़ा व चित्रकोट का उप-निर्वाचन. सभी तरह के निर्वाचनों में प्रदेश ने यह उपलब्धि हासिल की है. कुशल निर्वाचन प्रबंधन के लिए छत्तीसगढ़ पूरे देश में मॉडल के रूप में उभरा है.

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के मार्गदर्शन और निगरानी में यहां सभी निर्वाचनों में मतदाता जागरूकता, सुरक्षा व्यवस्था, ई.टी.पी.बी.एस. और डाक मतपत्रों के जरिए सेवा मतदाताओं के लिए मतदान की व्यवस्था, मतदान केन्द्रों में व्हीलचेयर से लेकर पेयजल, शौचालय और प्राथमिक उपचार के इंतजाम तथा मतदान दलों को सामग्री वितरण एवं वापसी में नवाचारों के जरिए सुगम, सुघ्घर और समावेशी निर्वाचन को साकार किया गया है.

छत्तीसगढ़ चुनाव प्रबंधन के लिए देश में बना मॉडल

Back to top button