छत्तीसगढ़ को मिला 750 करोड़ का और कर्ज, तीन वर्ष में चुकाएगी सरकार

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार को उसकी प्रतिभूति (बांड) के एवज में 750 करोड़ स्र्पये का कर्ज मिल गया है। सरकार यह कर्ज करीब साढ़े सात फीसद ब्याज दर के साथ तीन वर्ष में लौटाएगी। इसके साथ ही इस वर्ष के 71 दिनों में राज्य सरकार द्वारा ली गई कर्ज की राशि बढ़कर आठ हजार करोड़ पहुंच गई है।

अभी 5 मार्च को ही सरकार ने 750 करोड़ का लोन लिया था। बताया जा रहा है कि चालू वित्तीय वर्ष के बाकी बचे करीब 18 दिनों में सरकार अभी और कर्ज ले सकती है।

राज्य सरकार को करीब 14 हजार करोड़ स्र्पये की आवश्यकता है। अब तक सरकार आठ हजार करोड़ का कर्ज ले चुकी है। छह हजार करोड़ स्र्पये की अभी और व्यवस्था करनी है। यह पूरी रकम कर्ज माफी और धान खरीद में जा रही है। सरकार ने किसानों का अल्पकालीन कृषि ऋण माफ किया है। इसके लिए करीब 11 हजार करोड़ स्र्पये से अधिक की आवश्यकता है। वहीं, धान की 2500 स्र्पये प्रति क्विंटल की दर से की गई खरीद के लिए 27 सौ करोड़ की आवश्यकता है।

17 राज्यों ने लिया 19 हजार करोड़ का कर्ज

आरबीआइ के माध्यम से मंगलवार को छत्तीसगढ़ समेत 17 राज्यों ने करीब 19 हजार करोड़ स्र्पये से अधिक का कर्ज लिया है। इनमें उत्तर प्रदेश ने तीन हजार, पश्चिम बंगाल ने 25 सौ, बिहार 23 सौ, कर्नाटक दो हजार, गुजरात व तमिलनाडु 13-13 सौ, तेलंगाना व मध्यप्रदेश एक-एक हजार करोड़ शामिल है।

Back to top button