नहीं रहे छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलराम दास टंडन

रायपुर।

छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलराम दास टंडन का आज दोपहर अंबेडरकर अस्पताल में निधन हो गया। मंगलवार सुबह अचानक सीने में दर्द की शिकायत पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां दोपहर बाद डॉक्टरों की टीम उनके निधन की पुष्टि कर दी।पार्थिव शरीर को पंजाब ले जाने की तैयारी चल रही है।

-सुबह से मुख्यमंत्री रमन सिंह ले रहे थे पूरी जानकारी

राज्यपाल बलराम दास टंडन की अचानक तबीयत खराब होने की जानकारी मिलते ही सीएम रमन सिंह उनसे मिलने अस्पताल पहुंचे। वहीं, अस्पताल में करीब 50 से भी अधिक सुरक्षाकर्मी उनकी सुरक्षा के लिए तैनात किया गया था। अस्पताल से मुख्यमंत्री रमन सिंह लगातार डॉक्टरों से जानकारी ले रहे थे। करीब दोपहर 1.15 को अंबेडकर अस्पताल के डॉक्टरों ने उनके निधन की पुष्टि कर दी।

-18 जुलाई 2014 को ली थी पद की शपथ

नरेंद्र मोदी सरकार ने पांच राज्यपालों की पहली नियुक्ति में पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता बलराम दास टंडन को छत्तीसगढ़ का राज्यपाल बनाया गया था। वह राज्यपाल शेखर दत्त की कार्यअवधी पूरी होने होने के बाद 18 जुलाई 2014 को अपने पद की शपथ ली थी।
दिवंगत राज्यपाल बलराम दास टंडन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेहद करीबी माने जाने वाले नेता थे। टंडन 1969 में पंजाब के उप मुख्यमंत्री थे और बाद में प्रकाश सिंह बादल की सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रहे। छह बार विधायक रहे टंडन ने 2012 में पंजाब के किसानों को मुफ्त बिजली देने के बादल सरकार के फैसले की आलोचना की थी।

Tags
Back to top button