छत्तीसगढ़ में चक्रावात के असर से लगातार बदल रहा मौसम, अगले कुछ दिनों तक हो सकती है बारिश

रायपुर। उत्तरी छत्तीसगढ़ में चक्रवात के असर से राजधानी में अपरान्ह मौसम का मिजाज बदल गया और अंधड़ और गरज-चमक के साथ करीब आधे घंटे तक हल्की बारिश हुई। इस दौरान कई इलाकों में बिजली गुल हो गई।

कुछ इलाकों तो आधे-पौन घंटे बाद बिजली आ गई, लेकिन अधिकांश इलाके में बिजली रात नौ बजे तक नहीं आई। दिन में अधिकतम 37.1 डिग्री रहा, जो सामान्य से तीन डिग्री कम था। न्यूनतम तापमान 23.0 डिग्री दर्ज किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री कम था।

मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि चक्रवात के असर से उत्तरी छत्तीसगढ़ में पिछले दो दिनों से अंधड और गरज-चमक के साथ हल्की बारिश हो रही है। राजधानी में भी इसी का असर रहा।

रायपुर में शुक्रवार को दिनभर हल्के बादल छाए रहे। बीती रात हुई तेज हवा और बारिश से दिनभर मौसम में नमी बनी रही। अपरान्ह चार बजे शहर की फिजा बदली। अंधड़, गरज-चमक के साथ बारिश होने लगी। करीब आधे घंटे तक शहर में बारिश हुई। मौसम विभाग ने 2.4 मिमी बारिश दर्ज की। बीती रात शहर में 4.3 मिमी बारिश हुई।

यहां बिजली रही बाधित

राजधानी के शांति नगर, डीडी नगर, अवंती चौक, रीयो मॉल के पास, कालीबाड़ी, रामकुंड, खमतराई, मंदिर हसौद, डंगनिया, उरला, कचना, पुरानी बस्ती, सिविल लाइन, संजय नगर आदि इलाकों में बिजली आपूर्ति बाधित रही। कुछ क्षेत्रों में मेंटनेंस के लिए बिजली कर्मियों को मशक्कत करनी पड़ी।

तुलसी वार्ड में भी चार पांच खम्बे और तार टूट से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़। इसके अलावा शहर के कालीबाड़ी, रावणभाठा, संजय नगर, वीआईपी रोड, सेजबहार, आरंग, सिलतरा, पथरीडीह सहित कई क्षेत्रों के 11 केवी फीडरों में दिक्कतें आई। इसके अलावा मंदिर हसौद, डंगनिया, उरला, सेजबहार, कलामंदिर, आरंग, सिलतरा, कचना क्षेत्रों में 33 केवी फीडर में खराबी आने की वजह से बिजली बंद रही।

छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के एसी एके लखेरा ने बताया कि आंधी तूफान और बारिश की वजह से बिजली के खम्बों, तार में पेड़ टूटकर गिर गए। इसके अलावा फ्लैक्स के उडकऱ चिपक जाने की वजह से भी बिजली आपूर्ति बाधित रही। अधिकांश क्षेत्रों में 15 से 20 मिनट में लाइन शुरू हो गई। लेकिन कालीबाड़ी और रामकुड वाले फीडर में पेड़ गिरने के कारण लगभग 1 घंटे तक क्षेत्र में बिजली बाधित रही।

राजधानी के शांति नगर, डीडी नगर, अवंती चौक, रीयो मॉल के पास, कालीबाड़ी, रामकुंड, खमतराई, मंदिर हसौद, डंगनिया, उरला, कचना, पुरानी बस्ती, सिविल लाइन, संजय नगर आदि इलाकों में बिजली आपूर्ति बाधित रही। कुछ क्षेत्रों में मेंटनेंस के लिए बिजली कर्मियों को मशक्कत करनी पड़ी।

तुलसी वार्ड में भी चार पांच खम्बे और तार टूट से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़। इसके अलावा शहर के कालीबाड़ी, रावणभाठा, संजय नगर, वीआईपी रोड, सेजबहार, आरंग, सिलतरा, पथरीडीह सहित कई क्षेत्रों के 11 केवी फीडरों में दिक्कतें आई। इसके अलावा मंदिर हसौद, डंगनिया, उरला, सेजबहार, कलामंदिर, आरंग, सिलतरा, कचना क्षेत्रों में 33 केवी फीडर में खराबी आने की वजह से बिजली बंद रही।

छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के एसी एके लखेरा ने बताया कि आंधी तूफान और बारिश की वजह से बिजली के खम्बों, तार में पेड़ टूटकर गिर गए। इसके अलावा फ्लैक्स के उडकऱ चिपक जाने की वजह से भी बिजली आपूर्ति बाधित रही। अधिकांश क्षेत्रों में 15 से 20 मिनट में लाइन शुरू हो गई। लेकिन कालीबाड़ी और रामकुड वाले फीडर में पेड़ गिरने के कारण लगभग 1 घंटे तक क्षेत्र में बिजली बाधित रही।

Back to top button