छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया का दावा: RSS और बीजेपी के बीच जनसंख्या नीति को लेकर समन्वय की कमी

कांग्रेस (Congres) के वरिष्ठ नेता और छत्तीसगढ़ प्रभारी (Chhattisgarh Congress in-charge) पीएल पुनिया (PL Punia) ने दावा किया है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बीच समन्वय की कमी है. RSS प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) के दशहरे (Dussehra) के मौके पर दिए गए भाषण का जिक्र करते हुए कांग्रेस नेता ने दावा किया, ‘RSS और BJP के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार (Central government) में असंतुलन देखने को मिल रहा है.’

पीएल पुनिया ने आगे दावा किया कि केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) को दिए एक हलफनामे में राष्ट्रीय जनसंख्या नीति (National population policy) का मसौदा तैयार करने से इनकार कर दिया. पुनिया ने कहा, ‘दशहरे पर मोहन भागवत ने कहा कि जनसंख्या नीति होनी चाहिए. यह कौन कह रहा है? सरकार तो आपकी है. एक तरफ RSS प्रमुख जनसंख्या नीति पर नई नीति की मांग कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के नेतृत्व में सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा पेश किया कि वे राष्ट्रीय जनसंख्या नीति का मसौदा तैयार नहीं करेंगे. इस हलफनामे में कहा गया है कि इसकी कोई जरूरत नहीं है’

मोहन भागवत ने क्या कहा था?

RSS प्रमुख ने शुक्रवार को भारत की बढ़ती जनसंख्या पर चिंता व्यक्त करते हुए इसे एक ऐसी दुर्घटना बताया, जो निकट भविष्य में कई समस्याओं को जन्म दे सकती है. सात थी राष्ट्रीय जनसंख्या नीति की अपनी मांग पर जोर दिया. उन्होंने कहा, दुनिया भर में देखे जा रहे जनसांख्यिकीय परिवर्तन और असंतुलन के आधार पर सभी के लिए लागू जनसंख्या नीति की आवश्यकता है. उन्होंने कहा, जनसंख्या नीति होनी चाहिए. इस मुद्दे पर पहले भी कुछ चर्चा हो चुकी है. विशेषज्ञों की राय के आधार पर सरकार प्रति परिवार 2.1 बच्चों के फार्मूले पर सहमत हुई. लेकिन हमें लगता है कि इस मुद्दे पर फिर से विचार करने की जरूरत है.

CWC की बैठक में शामिल हुए पुनिया

वहीं, पीएल पुनिया शनिवार को पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) की अध्यक्षता में हुई कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में शामिल हुए. बैठक में पार्टी के कुल 52 नेता हिस्सा ले रहे हैं. इस बैठक का आयोजन नई दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय पर हो रहा है. इसमें वर्तमान राजनीतिक स्थिति, आगामी विधानसभा चुनावों और संगठनात्मक चुनावों पर चर्चा हो रही है. पिछले साल कोरोनावायरस महामारी के फैलने के बाद CWC की यह पहली व्यक्तिगत बैठक है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button