छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ : मंत्री डाॅ. डहरिया ने दी कसडोल नगर के विकास के लिए 6.13 करोड़ की सौगात

कसडोल में 20 लाख रूपये से बनेगा शिक्षक सदन,सिन्हा समाज और घासीदास सामुदायिक भवन के लिए 10-10 लाख देने मंत्री ने की घोषणा...किसान-मजदूरों की खुशहाली के लिए काम करना हमारा ध्येय: डाॅ डहरिया

आलोक मिश्रा
ब्यूरोहेड बलौदाबाजार

नगरीय प्रशासन एवं विकास तथा श्रम मंत्री डाॅ. शिवकुमार डहरिया ने कसडोल नगर पंचायत को 6 करोड़ 13 लाख रूपये के पाचं विकास कार्यों की सौगात दी हैं। उन्होंने इनमें से 4 करोड़ 90 लाख रूपये के जल आवर्धन योजना एवं साढ़े 25 लाख रूपये के पौनी पसारी योजना के अंतर्गत बाजार निर्माण का भूमिपूजन एवं वार्ड क्रमांक एक में 51 लाख रूपये की लागत से बने गुरू घासीदास सामुदायिक भवन, वार्ड 14 में 20 लाख से बने सामुदायिक भवन एवं दौलतराम शर्मा शासकीय काॅलेज में 27 लाख से निर्मित अहाता का कार्यक्रम में लोकार्पण किया।

घासीदास सामुदायिक भवन

गुरू घासीदास शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में आयोजित समारोह की अध्यक्षता संसदीय सचिव एवं स्थानीय विधायक सुश्री शकुन्तला साहू ने की। डाॅ. डहरिया ने विधायक एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों के अनुरोध पर कसडोल में शिक्षक सदन के लिए 20 लाख, सिन्हा समाज के सामुदायिक भवन के लिए 10 लाख और घासीदास सामुदायिक भवन के लिए 10 लाख रूपये की स्वीकृति की घोषणा की है। नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग की विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत मंत्री डाॅ. डहरिया ने दर्जन भर हितग्राहियों को सहायता राशि के चेक एवं ऋण भी वितरित किये।छत्तीसगढ़ : मंत्री डाॅ. डहरिया ने दी कसडोल नगर के विकास के लिए 6.13 करोड़ की सौगात

विशेष अतिथि के रूप में इस मौके पर राज्य कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुरेन्द्र शर्मा, जिला अध्यक्ष हितेन्द्र ठाकुर, पूर्व विधायक अरूण मिश्रा, पूर्व जिला अध्यक्ष दिनेश यदु, अमर मिश्रा लवन उपस्थित थे।

डाॅ. डहरिया ने मुख्य अतिथि की आसंदी से सभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य में पिछले दो साल में हुए उल्लेखनीय उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि नगरीय स्वच्छता के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ को पिछले दो साल से लगातार पुरस्कार एवं सम्मान मिला है। डाॅ. डहरिया ने कहा कि सरकार गठन के समय किये गये 36 वादो में से 24 वादे पूर्ण कर लिये हैं। शेष वादों को भी पूर्ण करने की कार्यवाही जारी है।

डाॅ. डहरिया ने कहा

डाॅ. डहरिया ने कहा कि किसानों का विकास हमारी सरकार के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता में हैं। हमारा स्पष्ट मानना है कि किसानों की समृद्धि में ही राज्य और देश का विकास समाहित है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की सरकार अपने किये गये वादे के अनुरूप 2500 रूपये प्रति क्विंटल के हिसाब से धान खरीद रही है। समर्थन मूल्य से अंतर की राशि को राजीव किसान न्याय योजना के अंतर्गत सम्मान राशि के रूप में दे रहे हैं। इसी हिसाब से आगे भी किसानों से धान खरीदी जारी रहेगी। इससे अन्य लोगों की तरह मुकरने का कोई सवाल ही नहीं उठता है। उन्होंने कहा कि हम ज्यादा से ज्यादा किसानों को सोसायटी का सदस्य बनाकर उनसे धान खरीदी कर रहे हैं। तीन बरस पहले जहां केवल 15 लाख किसान सोसायटी में धान बेचने आते थे, वहीं आज साढ़े 21 लाख किसानों से धान खरीद रहे हैं।

डाॅ. डहरिया ने राजीव गांधी आश्रय योजना के अंतर्गत पट्टा वितरण के लिए कसडोल नगर में फिर से सर्वेक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने योजना के अंतर्गत सीमित संख्या में पट्टा वितरण किये जाने पर नाराजगी जाहिर की। मंत्री ने बताया कि योजना के अंतर्गतं नगरीय क्षेत्र में 19 नवम्बर 2018 के पहले काबिज लोगों को पट्टे वितरित किये जाने का प्रावधान किया गया है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए संसदीय सचिव शकुन्तला साहू ने क्षेत्र की समस्याओं एवं मांगों से मंत्री को अवगत कराया।

तालाब के सौंदर्यीकरण एवं गहरीकरण की मांग

उन्होंने प्रमुख रूप से इंदिरा तालाब के सौंदर्यीकरण एवं गहरीकरण की मांग रखी, जिस पर मंत्री डाॅ. डहरिया ने प्राक्कलन प्रस्तुत करने पर स्वीकृति का भरोसा दिलाया। समारोह को कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुरेन्द्र शर्मा, जिला अध्यक्ष हितेन्द्र ठाकुर, युवा नेता मानस पाण्डेय, नगर पंचायत उपाध्यक्ष ऋत्विक मिश्रा ने भी सम्बोधित किया। सुरेन्द्र शर्मा ने कहा कि किसानों का विकास और आर्थिक रूप से सक्षम बनाना हमारा लक्ष्य है। और इसके लिए हम पूरा यत्न कर रहे हैं।

नगर पंचायत अध्यक्ष नीलू चंदन साहू ने स्वागत भाषण दिया और नगर के बुनियादी जरूरतों को पूरा करने की उम्मीदों के साथ मंत्री जी को मांग पत्र सौंपा। नगरीय प्रशासन मंत्री डाॅ. डहरिया के कसडोल आगमन पर नागरिकों द्वारा आतिशी स्वागत किया गया। इस अवसर पर एसडीएम मिथलेश डोण्डे, बीएमओ डाॅ. पैकरा, सीएमओ अनुराधा राजमणि सहित पार्षद एवं शहर के नागरिक बड़ी संख्या में मौजूद थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button