छत्तीसगढ़ पैरेंट्स एसोसियेशन ने सामान्य प्रशासन विभाग को लिखा पत्र, प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारियों पर गिर सकती है गाज?

मामले की गंभीरता को देखते हुए सामान्य प्रशासन विभाग हुआ सख्त

रायपुर। प्रदेश के स्कूल शिक्षा विभाग ने आठ से अधिक लोगों को प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी के पद पर पदस्थ किया गया है, जिसको लेकर छत्तीसगढ़ पैरेंट्स एसोसियेशन के प्रदेश अध्यक्ष क्रिष्टोफर पॉल ने सामान्य प्रशासन को पत्र लिखकर जिलों में योग्य और वरिष्ठतम जिला शिक्षा अधिकारी की पदस्थापना करने की मांग किया गया था,

जिसको लेकर सामान्य प्रशासन विभाग ने दिनांक 25.02.2021 को अवर सचिव स्कूल शिक्षा विभाग को पत्र लिखकर प्रकरण पर परीक्षण कर नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही करने और की गई कार्यवाही की जानकारी आवेदक यानि क्रिष्टोफर पॉल को देने का निर्देश दिया है, लेकिन शिक्षा विभाग ने सामान्य प्रशासन के पत्र को गंभीरता से नहीं लिया, जिसके पश्चात पुनः सामान्य प्रशासन ने दिनांक 03.04.2021 को प्रमुख सचिव, छग शासन, स्कूल शिक्षा विभाग को पत्र लिखकर आवश्यक कार्यवाही करने का निर्देश दिया गया था, लेकिन इस संबंध ने स्कूल शिक्षा विभाग ने क्या कार्यवाही किया है, इसको लेकर पुनः सामान्य प्रशासन ने दिनांक 18 मई 2021 को पत्र जारी कर की गई कार्यवाही से शिकायतकर्त्ता छत्तीसगढ़ पैरेंट्स एसोसियेशन के प्रदेश अध्यक्ष क्रिष्टोफर पॉल को अवगत कराने को निर्देशित किया गया है।

क्या कहता है नियम…

सामान्य प्रशासन के स्थायी निर्देश दिनांक 04.08.2011 के अनुसार वरिष्ठ के रहते कनिष्ठ को चालू कार्यभार नहीं सौंपा जाना है और छग स्कूल सेवा (शैक्षिक एवं प्रशासनिक संवर्ग) भर्ती तथा पदोन्नति नियम 2019 के अनुसार जिला शिक्षा अधिकारी के पद उप संचालक (संवर्ग)/प्राचार्य (प्रथम श्रेणी) के समकक्ष अधिकारी को ही पदस्थ किये जाने का प्रावधान है, लेकिन स्कूल शिक्षा विभाग के द्वारा कनिष्ठ अधिकारियों को जिला शिक्षा अधिकारी के पद पर पदस्थ कर दिया गया है, जबकि इन अधिकारियों से वरिष्ठतम अधिकारी स्कूल शिक्षा विभाग में कार्यरत है।

यदि स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा तत्काल प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारियों को हटाकर नियमानुसार पदस्थापना नहीं किया जाता है, तो हम अब इस मामले में कोर्ट मे याचिका दायर करेंगे।
क्रिष्टोफर पॉल, प्रदेश अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ पैरेंट्स एसोसियेशन।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button