छत्तीसगढ़

प्रथम स्थान पर रहा छत्तीसगढ़ पावर जनरेशन कंपनी का विद्युत गृह

माननीय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विद्युत कर्मियों को बधाई दी

रायपुर: भारत सरकार के अधीन कार्यरत केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण (सीईए) की माह अगस्त 2020 के रिपोर्ट अनुसार छत्तीसगढ़ पावर जनरेशन कंपनी के विद्युत गृह प्रथम, तेलंगाना स्टेट द्वितीय तथा झारखंड तृतीय स्थान पर रहा। कोविड-19 के संक्रमण काल में लगातार विद्युत ग्रहों की ऐसी राष्ट्रीय स्तर की उपलब्धि के लिए माननीय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विद्युत कर्मियों को बधाई दी।

उन्होंने पावर कंपनीज के चेयरमैन सुब्रत साहू और उत्पादन कंपनी के एमडी एनके बिजोरा सहित उनकी टीम को ऐसे अभूतपूर्व कीर्तिमानो बनाए रखने के प्रेरित किया। ऐसी गौरवशाली परंपरा को बनाए रखने का आवाहन करते हुए चेयरमैन श्री सुब्रत साहू ने इस बात पर गर्व व्यक्त किया कि छत्तीसगढ़ से भी अधिक उन्नत राज्य के विद्युत गृह छत्तीसगढ़ से पीछे चल रहे हैं।

कोरोना संक्रमण काल में जहां देशभर के विद्युत ग्रहों के उत्पादन में गिरावट दर्ज हो रही है वही माह जुलाई में 69.83 प्रतिशत तथा अगस्त में उससे आगे बढ़ते 70.59 प्रतिशत पीएलएफ दर्ज करके जनरेशन कंपनी के विद्युत गृहों ने विद्युत उत्पादन के मामले में प्रदेश को अग्रणी बनाए रखा है ।

विदित हो कि सी.ई.ए. की रिपोर्ट के मुताबिक देश भर विद्युत गृहों का पी.एल.एफ का तुलनात्मक विश्लेषण किया गया, जिसमें छत्तीसगढ़ कंपनी के ताप विद्युत गृहों का प्लांट लोड फैक्टर माह अगस्त में सर्वाधिक 70.59 प्रतिशत रहा।

दूसरे स्थान पर तेलंगाना स्टेट पावर जनरेशन कम्पनी 67.82 प्रतिशत और तीसरे स्थान पर तेनूघाट विद्युत निगम लिमिटेड झारखंड के विद्युत गृहों ने 62.23 प्रतिशत पी.एल.एफ. दर्ज किया।

देश भर के ताप विद्युत गृहों का औसत पी.एल.एफ 48.46 प्रतिशत रहा, जबकि छत्तीसगढ़ जनरेशन कंपनी के विद्युत गृहों के प्लांट का प्रतिशत 70.59 प्रतिशत दर्ज हुआ जो कि राष्ट्रीय औसत पीएलएफ से कहीं अधिक है है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button