छत्तीसगढ़ के प्रयास विद्यालय बनेंगे देश के लिए मॉडल: डॉ. रमन सिंह

रायपुर: मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि प्रदेश के आदिवासी बहुल क्षेत्रों और नक्सल हिंसा पीडि़त जिलों के बच्चों की शिक्षा के लिए छत्तीसगढ़ सरकार की प्रयास आवासीय विद्यालय परियोजना पूरे देश के लिए एक अनुकरणीय मॉडल साबित होगी। मुख्यमंत्री आज शाम राजधानी रायपुर के नजदीक सड्डू में लगभग 18 एकड़ में निर्माणाधीन एजुकेशन सिटी में लगभग 40 करोड़ रुपए के निर्माण कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण करने के बाद समारोह को संबोधित कर रहे थे।

डॉ. सिंह ने कहा कि राज्य के ऐसे दूर-दराज के पिछड़े इलाकों के प्रवास और वहां रात्रि विश्राम के दौरान स्थानीय लोगों से जब मैंने बच्चों की शिक्षा के बारे में पूछा तो उन्होंने सुविधाओं की अभाव बताया था। इसे ध्यान में रखकर मैंने मुख्यमंत्री बाल भविष्य सुरक्षा योजना के तहत प्रयास विद्यालयों की शुरूआत करवाई। उन्होंने कहा कि पिछले सात वर्षों में इन विद्यालयों में नियमित और निःशुल्क पढ़ाई तथा कोचिंग सुविधा के फलस्वरूप लगभग सात सौ बच्चों ने देश के प्रतिष्ठित उच्च शिक्षा संस्थानों आई.आई.टी., एन.आई.टी. इंजीनियरिंग कॉलेजों और मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश लिया है।

डॉ. सिंह ने कहा-हम सबका यह सपना है कि प्रयास विद्यालयों के बच्चे अपनी मेहनत और प्रतिभा से देश और समाज के विभिन्न क्षेत्रों में कामयाबी की बुलंदियों तक पहुंचे, अच्छे नागरिक बनें और सरकारी अधिकारी बनकर भी राष्ट्र की सेवा करें। समारोह की अध्यक्षता लोकसभा सांसद श्री रमेश बैस ने की। कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष श्री देवजी भाई पटेल, विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा और श्री नवीन मार्कण्डेय, छत्तीसगढ़ राज्य अंत्यावसायी सहकारी वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष श्री निर्मल सिन्हा और अम्बिकापुर नगर निगम के पूर्व महापौर श्री प्रबोध मिंज विशेष अतिथि के रुप में कार्यक्रम में उपस्थित थे।</>

1
Back to top button