किसानों की जीवन में खुशहाली आयेगी तब छत्तीसगढ़ समृद्ध राज्य बनेगा: बघेल

जरहागांव में आयोजित पिछड़ा वर्ग एवं किसान सम्मेलन में शामिल हुए मुख्यमंत्री...

मनीष शर्मा

मुंगेली। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि किसानों की जीवन में खुशहाली आयेगी, किसानों को मेहनत का दाम और बेरोजगारों को काम मिलेगा, तब छत्तीसगढ़ समृद्ध राज्य बनेगा। 75 प्रतिशत आबादी गांवों में बसते है। सभी खेती किसानी काम से जुड़े है। उन्होने कहा कि गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ को साकार करने के लिए सुराजी गांव योजना का जरहागांव से शुरूवात की जा रही है।

उन्होने कहा कि किसान अपने पैरो में खड़ा हो सके, इसलिए प्रदेश के 20 लाख किसानों की 10 हजार करोड़ रूपये ऋण माफ किया गया। इनमें सहकारी समिति एवं ग्रामीण बैंक के माध्यम से 6 हजार करोड़ रूपये और राष्ट्रीयकृत बैंकों से 4 हजार करोड़ रूपये शामिल है। मुख्यमंत्री आज मुंगेली जिले के जरहागांव के मिनी स्टेडियम में आयोजित पिछड़ा वर्ग एवं किसान सम्मेलन में लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होने सुराजी गांव योजना के तहत जिले के 15 स्थानों में गोठान निर्माण हेतु शिलान्यास भी किया तथा कहा कि छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी नरवा, गरूवा, घुरूवा अऊ बाड़ी ऐला बचाना हे संगवारी।

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि गांवों में नरवा को जीवित रखने की जरूरत है। जल संचयन एवं संवर्धन हेतु छोटे स्ट्रक्चर, बोल्डर चेक डेम को बढ़ावा दिया जायेगा। इससे पानी रिचार्ज होगा और भू-गर्भ जल में वृद्धि होगी। छत्तीसगढ़ महतारी तब सुंदर दिखेगा जब चारों तरफ हरियाली दिखाई देगी। उन्होने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने गौ माता के लिए गौशाला खोले थे।

लेकिन अब छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा गौ रक्षा के लिए पक्की गोठान बनाया जायेगा। गोठान में सामुदायिक आधार पर बायो गैस प्लांट, कम्पोस्ट खाद बनाया जायेगा। इससे लोगों के रोजगार मिलेगा। पैरा को काटकर पशुओं को खिलाया जायेगा। उन्होने कहा कि जंगलों में फलदार पौधे, साग-सब्जी को बढ़ावा देने से किसानों की आमदनी में वृद्धि होगी तथा जंगली जानवर गांव की तरफ नहीं आयेंगे। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि देश में छत्तीसगढ़ किसानों से 2500 रूपये क्विंटल में धान खरीदने वाला पहला राज्य है। किसानों को अब अंतर की राशि भी मिलना शुरू हो गया है।

उन्होने कहा कि पिछली सरकार प्रत्येक व्यक्ति के हिसाब से 7 किलो चावल दे रही थी। अब हमारी सरकार हर परिवारों को 35 किलो चावल देंगी तथा बिजली बिल हाफ कर दिया गया है जो 1 मार्च 2019 से शुरू होगा। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान वरिष्ठ कार्यकर्ता छेदीलाल जायसवाल, जेठूराम एवं मुनीराम कश्यप को शाल भेंटकर सम्मानित किया। उन्होने छत्तीसगढ़ अपाक्स द्वारा प्रकाशित कलेण्डर का विमोचन भी किया। आयोजन समिति के सदस्यों द्वारा मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया।

राज्य सभा सदस्य छाया वर्मा ने कहा कि महिला बहनों की आशीर्वाद से मुख्यमंत्री श्री बघेल को नेतृत्व करने का अवसर मिला है। उन्होने कहा कि सुराजी गांव योजना के अंतर्गत नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी को अमलीजामा पहनाया जाना है। छत्तीसगढ़ को धान का कटोरा कहते थे अब फलीभूत होने लगी है। उन्होने सांसद मद से कनौजिया समाज के सामुदायिक भवन हेतु 5 लाख रूपये देने की घोषणा की।

व्यास नारायण द्विवेदी ने कहा कि जब कोई व्यक्ति पद में बैठता है तो पद की गरिमा बढ़ जाती है। उन्होने कहा कि स्व. चंदूलाल चंद्राकर, स्व. पवन दीवान सहित अनेकों लोगों ने छत्तीसगढ़ राज्य की कल्पना की थी जो साकार हुआ है। उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार किसान और मजदूरों के हितों में काम कर रही है।

इस मौके पर जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती कृष्णा बघेल, नगर पालिका की अध्यक्ष श्रीमती सावित्री सोनी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष शत्रुहन चंद्राकर, पूर्व विधायक चुरावन मंगेशकर, अटल श्रीवास्तव, राकेश पात्रे, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष व बिलासपुर लोकसभा प्रबल दावेदार अनिल सोनी, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती जागेश्वरी वर्मा, लोकराम साहू, श्रीमती मायारानी सिंह, दिलीप बंजारा, कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे, पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारूल माथुर, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोकेश चंद्राकर, अपर कलेक्टर राजेश नशीने, सहित अन्य जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, मीडिया प्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Back to top button