छत्तीसगढ़राजनीति

बस्तर में चुनावी माहौल टटोलकर तीन दिनों बाद दिल्ली लौटे पीएल पुनिया

रायपुर : भाजपा और कांग्रेस सहित अन्य राजनीतिक दलों ने प्रदेश में होने वाले आगामी 2018 विधानसभा चुनाव के लिए कमर कस ली है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने जहाँ छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान प्रदेश में चौथी बार सरकार बनाने के लिए प्रदेश के नेताओं को जी तोड़ मेहनत करने के निर्देश दिए हैं तो वहीँ कांग्रेस भी लम्बे समय बाद प्रदेश की सत्ता में वापस आने के लिए मेहनत करने में लगी हुई है. इसी सिलसिले में कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी बने पीएल पुनिया लगातार प्रदेश के दौरे पर आकर यहाँ चुनाव की तैयारी कर रहे हैं. इसी कड़ी में कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया तीन दिवसीय प्रदेश प्रवास पर पहुंचे हुए थें. इन तीन दिनों तक पुनिया ने बस्तर क्षेत्र में कांग्रेस को मजबूत करने के लिए कई जनसभा को संबोधित किया साथ ही क्षेत्र के नेताओं के साथ बातचीत भी की. 10 अक्टूबर को रायपुर पहुंचे पीएल पुनिया दूसरे दिन कांकेर के नहरपुर और केशकाल के बहिगांव में कांग्रेस की जन अधिकार सभा को संबोधित किया. यहाँ उन्होंने प्रदेश की भाजपा सरकार के साथ केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा. इस दौरान पुनिया ने कहा कि भाजपा छत्तीसगढ़ में 65 सीटों को जितने की बात कर रही है लेकिन हम पूरी 90 सीटों पर मेहनत कर जीत हासिल करेंगे. वहीँ 12 और 13 अक्टूबर को दंतेवाड़ा और चित्रकोट इलाके में जन अधिकार सभा को संबोधित किया. इस दौरान पुनिया ने बस्तर के लोगों को उनका अधिकार दिलाने की बात कही.

बस्तर की सभा से कांग्रेस उत्साहित

अपने तीन दिवसीय प्रवास पर आयें पीएल पुनिया सहित तमाम कांग्रेसी बस्तर में हुई सभाओं में लोगों के उत्साह और को देखते हुए काफी खुश नजर आ रहे हैं. यहीं कारण है कि अब प्रभारी ने भी कह दिया है कि आगामी चुनाव में कांग्रेस बस्तर की 12 सीटों पर जीत हासिल करेगी.

दोनों दलों के नेताओं के बीच चलती रही जुबानी जंग

बस्तर दौरे के दौरान छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया सहित प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव सहित कई बड़े नेताओं ने प्रदेश सरकार पर जमकर आरोप लगायें. वहीँ कांग्रेस के आरोपों का भाजपा ने भी जवाब दिया. इस दौरान दोनों दलों के नेताओं के बीच जुबानी जंग भी देखने को मिली.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.