छुरा: आदतन मुर्गी चोर गया जेल

हितेश दीक्षित

छुरा/गरियाबंद।

गरियाबंद जिले के छुरा विकास खण्ड के ग्राम चुरकीदादर के ग्रामीणों के सर – दर्द बने गांव के ही युवक के रवैये से गांव की ब्यवस्था बिगड़ने से ग्रामीण परेशान हो कर थाना छुरा में शिकायत दर्ज करा कर आखिर हवालात का रास्ता दिखा दिया।

आरक्षी केन्द्र छुरा एवं ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम के लोगों के घरों के पालतू मुर्गी मुर्गा एवं बत्तखों का रात में अचानक गायब होने की घटनाओं से ग्रामीण परेशान थे लोगों में भ्रम था कि रात में सियार कुत्ते या बिल्ली द्वारा मुर्गा बतख को उठाया जाता है।

गांव के साधु राम अपने परिवार के साथ रात में नींद में सो रहे थे। इसी बीच मुर्गी चोर खपरैल हटाकर घर के अंदर प्रवेश कर मुर्गी को पकड़ रहा था।

मुर्गियों की अवाज सुनकर साधु राम मुर्गा के दरबा में घुसा तो संतराम मांझी मुर्गी का गला पकड़ कर भागने की कोशिश कर रहा था।

दूसरे दिन सुबह गांव में बैठक हुई और मुर्गा चोरी का खुलासा हुआ। मुर्गी चोर ने गुनाह कबूल कर लिया। लेकिन हर्जाना समाजिक माफीनामा मांगने से मना कर दिया और गांव वालों को धमकी दी कि वो मुर्गा चोरी बंद नहीं करेंगे। क्योंकि मुर्गा खरीदने पर कीमतें बढ़ने के कारण चोरी कर खाना पड़ता है।

चुरकीदादर के संतराम मांझी पिता घासीराम माझी (30) को छुरा पुलिस ने चोरी के आरोप में न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया।

Back to top button