मुख्य न्यायाधीश राधाकृष्णनन ने किया न्याय संगवारी कक्ष का उद्घाटन

बिलासपुर : छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश टी.वी. राधाकृष्णनन ने आज राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण कार्यालय बिलासपुर में स्थापित लीगल असिस्टेंट इस्टेबलिस्टमेंट ’’न्याय संगवारी’’ कक्ष का फीता काटकर विधिवत् उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्हांेने वीडियो कान्फ्रेसिंग से कवर्धा एवं जशपुर जिले के लोक अदालत एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यों की जानकारी ली। मुख्य न्यायाधीश श्री राधाकृष्णनन ने बताया कि वीडियो कान्फ्रेंस से राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण से सभी राज्य जुड़े हैं। आज राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जिले के विधिक सेवा प्राधिकरण से जुड़ गया है। इससे निम्न मध्यम आय वर्ग के लोगों महिलाओं को विधिक सहायता देने में आसानी होगी। उन्होंने कहा कि एक ही स्थान पर विधिक सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए इसकी स्थापना की गई है। विधिक सेवा के पात्र व्यक्ति अनुसूचित जाति, जनजाति, महिला, बच्चे या जिनकी आय एक लाख रूपए से कम हो अथवा मानसिक रूप से अस्वस्थ हों, उन्हें विधिक सहायता उपलब्ध करायी जाती है। इस अवसर पर न्यायमूर्ति श्री प्रीतिंकर दिवाकर, कार्यपालक अध्यक्ष, राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, बिलासपुर ने अपने संबोधन में बताया कि आज से प्रारंभ इस केन्द्र में एक ही स्थान पर विधिक सेवाएं उपलब्ध कराएं जाने की व्यवस्था की गई है। इस केन्द्र में एक पेनल लायर तथा एक पैरालीगल वालेंटियर प्रत्येक कार्य दिवस में उपस्थित रहेंगे, जो इस केन्द्र से संपर्क करने वाले व्यक्ति को उपयुक्त विधिक सहायता तथा सलाह उपलब्ध कराएंगे। संपर्क करने हेतु एक टोल फ्री नंबर -1800-2332528 दूरभाष क्र. 07752-410210, ई-मेल आई.डी. बहेजंजमसंम/हउंपसण्बवउ भी स्थापित किया गया है। यह कक्ष वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जिला विधिक सेवा प्राधिकरणों में जेलों तथा नालसा से भी संपर्क रहेगा। न्यायमूर्ति श्री गौतम भादुड़ी, अध्यक्ष, उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति ने अपने उद्बोधन में बताया कि कमजोर वर्ग के लोगों के लिए विधिक सहायता के अलावा एक बड़ा वर्ग मध्यम आय वर्ग, कानूनी सहायता के दायरे से छूट रहा था, जिसके लिए उच्च न्यायालय में मध्यम आय वर्ग कानूनी सहायता समिति का गठन किया गया है। पांच लाख रूपए तक की वार्षिक आमदनी वाले व्यक्ति यहां से उच्च न्यायालय के लिए विधिक सहायता प्राप्त कर सकते हैं। आज के इस कार्यक्रम में न्यायमूर्ति श्री संजय अग्रवाल, श्री अरविन्द सिंह चंदेल, रजिस्ट्रार जनरल, श्री रजनीश श्रीवास्तव, सदस्य सचिव, श्री अभिषेक शर्मा, उप सचिव, श्रीमती श्वेता श्रीवास्तव, अवर सचिव सहित राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के अधिकारी, कर्मचारीगण उपस्थित थे।

Back to top button