मुख्यमंत्री एवं आबकारी मंत्री को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए : विकास तिवारी

राजकीय शोक में शराब दुकानों के खुलने पर बरसे कांग्रेसी

मुख्यमंत्री एवं आबकारी मंत्री को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए : विकास तिवारी

रायपुर : देश के पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी और प्रदेश के राज्यपाल बलराम दास टंडन के निधन पर देश भर में शोक की लहर थी और सरकार ने राजकीय शोक का एलान किया था. ऐसे में राजकीय शोक के दौरान शराब दुकानों के खुले रहने को लेकर राजनीति शुरू हो गई है.

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के विकास खोजो कार्यक्रम के मीडिया प्रभारी विकास तिवारी ने कहा कि कल जहां एक ओर पूरा देश पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी के आकस्मिक मृत्यु से शोक संतप्त थे और उनकी अंतिम यात्रा के दिन पूरे देश में माहौल गमगीन था,

वहीं दूसरी ओर छत्तीसगढ़ राज्य की भाजपा सरकार द्वारा अपने आबकारी विभाग द्वारा संचालित 698 देशी और विदेशी शराब दुकानों और भट्टियों को खुले रखा गया था, जिसमें कि कल के ही दिन लगभग 50 करोड़ से अधिक का शराब बेचा गया।

मीडिया प्रभारी विकास तिवारी ने कहा कि कल पूरे दिन सोशल मीडिया में रमन सरकार के इस कृत्य से ना केवल प्रदेश बल्कि पूरे देश की जनता भी गुस्से में थी और राजधानी के शराब दुकानों में होरी शराब बिक्री के वीडियो में हजारों लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि रमन सरकार को इस कृत्य के लिए माफी मांगनी चाहिए। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के अंतिम संस्कार के दिन अपने इन शराब दुकानों को बंद रखना था।

राज्य की सरकार शराबबंदी के नाम पर केवल और केवल ढोंग करती है जबकि वहीं दूसरी ओर राष्ट्रीय शोक वाले दिन 50 करोड़ से अधिक की शराब बेचकर मोटा कमीशन तो कमाया। लेकिन अपने इस कृत्य से छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता को पूरे देश और विदेश में शर्मसार भी किया। विकास तिवारी ने कहा कि इस घटना के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं आबकारी मंत्री को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए।

Tags
Back to top button