मुख्यमंत्री ने बालोद जिले को दी 282 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात

-बरही डेम से शक्कर कारखाने तक पानी पहुंचाने 72 लाख रुपये मंजूर करने की घोषणा

जागेश्वर सिन्हा

बालोद:

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बालोद जिले के गुरुर में आयोजित विशाल आम सभा मे जिले को 282 करोड़ रुपये के विकास कार्यों की सौगात दी। इसमें पुरूर से जामगांव तक 27 किलोमीटर की सड़क का पुनर्निर्माण प्रमुख है। इस सड़क का निर्माण 116 करोड़ की लागत से होगा। मुख्यमंत्री ने नागरिकों की मांग पर बरही डेम से मां दंतेश्वरी शक्कर कारखाने तक पानी पहुंचाने के लिये 72 लाख रुपये तथा ग्राम कोलिहामार स्थित गणेश मंदिर और तालाब के जीर्णोद्धार के लिए 20 लाख रुपये की स्वीकृति प्रदान की। डॉ. सिंह ने बालोद जिले के सनोद को उप तहसील का दर्जा देने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री डॉ सिंह ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी ने छत्तीसगढ़ का निर्माण किया था, जिसके कारण हम बालोद को जिला बनाने में सफल हुए। जिला बनने के बाद आज बालोद अपनी विशिष्ट पहचान स्थापित करने में सफल हुआ है। जिला बनने के बाद ही यंहा के नागरिकों को 282 करोड़ के विकास कार्यो की सौगात मिली है।

उन्होंने कहा कि सड़क पुल पुलियों का निर्माण तो होते रहते है । हमारी कोशिश होती है कि हमारे किसान भाइयों बहनों मजदूरों और आम आदमी के जीवन कैसे बदलाव आए। आज यह बदलाव मुझे आज यंहा देखने मिला जब 40 दिव्यांग भाई मोटर ट्रायसाइकिल पर बैठे देखा। महिलाओं के हाथों में मोबाइल, उज्ज्वाला गैस कनेक्शन, आवासहीनों को प्रधानमंत्री आवास मिल रहा है। बीमार पड़ने पर छत्तीसगढ़ की सरकार द्वारा 50 हजार और प्रधानमंत्री द्वारा आयुष्मान योजना के तहत 5 लाख रुपये तक निशुल्क इलाज की सुविधा आम नागरिकों के जीवन मे बदलाव लाने वाली योजनाएं हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार किसानों की बेहतरी के लिए काम कर रही है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने धान के समर्थन मूल्य में ऐतिहासिक बढ़ोतरी की है। हम भी 300 रुपये प्रति क्विंटल बोनस दे रहे है। अब एक क्विंटल धान का मूल्य किसानों को 2050 और 2070 रुपए मिलेगा। यह अब तक का सर्वोच्च मूल्य है।

उन्होंने कहा कि इस वर्ष धान खरीदी और बोनस को मिलाकर 14 हजार 600 करोड़ रुपये किसानों जे खाते में जायेगा। इस अवसर पर सांसद श्री विक्रम उसेंडी, अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष जे आर राणा, पूर्व विधायक श्री प्रीतम साहू उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में 24 हजार 973 तेन्दूपत्ता संग्राहकों को चरण पादुका, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में 1500 हितग्राहियों को रसोई गैस कनेक्शन, प्रधानमंत्री आवास योजना में चार हजार 03 हितग्राहियों को आवास स्वीकृति पत्र, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के 47 हजार 890 हितग्राहियों को टिफिन 3185 हितग्राहियों को आबादी पट्टे सहित आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को जन आरोग्य कार्ड, महिला स्व-सहायता समूहों को ऋण सहायता के चेक वितरित किए।

डॉ. सिंह ने कार्यक्रम में लगभग 269 करोड़ 57 लाख रूपए की लागत के 61 कार्यों का शिलान्यास और 13 करोड़ 36 लाख रूपए के 10 कार्यों का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यो का भूमिपूजन किया, उनमें 142 करोड़ 57 लाख रूपए की लागत से करहीभदर-निपानी-मोखा-बटरेल-जामगांव सड़क निर्माण, डौंडीलोहारा विकासखण्ड के ग्राम अछोली और मुड़खुसरा में बनने वाले उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के भवन शामिल हैं। इनमें से प्रत्येक भवन का निर्माण एक करोड़ 21 लाख रूपए की लागत से किया जाएगा।

Back to top button