छत्तीसगढ़राजनीति

मुख्यमंत्री बघेल ने रायपुर में लाइफ बर्थ डायग्नोस्टिक्स मालीकुलर एण्ड वायरोलॉजी लैब का किया ई-शुभारंभ

लाइफ बर्थ हॉस्टिपल द्वारा संचालित इस लैब में गंभीर बीमारियों से संबंधित विशेषकर कोरोना जांच की सुविधा उपलब्ध है।

रायपुर, 07 अक्टूबर 2020 : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज राजधानी रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय से समता कॉलोनी रायपुर में लाइफ बर्थ डायग्नोस्टिक्स मालीकुलर एण्ड वायरोलॉजी लैब का ई-शुभारंभ किया। लाइफ बर्थ हॉस्टिपल द्वारा संचालित इस लैब में गंभीर बीमारियों से संबंधित विशेषकर कोरोना जांच की सुविधा उपलब्ध है। इस अत्याधुनिक लैब के माध्यम से मरीजों को उनकी टेस्ट रिपोर्ट वायरललोड़ की जानकारी सहित 24 घंटे के भीतर उपलब्ध हो सकेगी।

वायरोलॉजी लैब

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस मौके पर कहा कि लाइफ बर्थ हॉस्पिटल के माध्यम से स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक अच्छी सुविधा मरीजों को मिलेगी। वायरोलॉजी लैब समय की जरूरत है। लाइफ बर्थ हॉस्पिटल के संचालक डॉ. जवाहर अग्रवाल, डॉ. अखिलेश कुमार, डॉ. संतोष कुमार, डॉ. विक्रम सिंघल, डॉ. महिमा मित्तल और उनकी पूरी टीम को मुख्यमंत्री बघेल ने इसके लिए बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में कोरोना पीड़ितों की जांच एवं इलाज की सुविधा में शासन के साथ लाइफ बर्थ हॉस्पिटल की भागीदारी सराहनीय कदम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोराना संक्रमित व्यक्ति की रिपोर्ट जितनी शीघ्रता से मिले, इलाज में उतनी ही सुविधा और मरीज के जल्दी स्वस्थ्य होने की उम्मीद होती है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना संकट

मुख्यमंत्री बघेल ने आगे कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ में कोरोना संकट से निपटने के लिए हर प्रयास किए जा रहे हैं, इसकी रोकथाम के लिए राजधानी रायपुर सहित जिला एवं तहसील स्तर पर अधोसंरचना के निर्माण के साथ ही पीड़ितों के इलाज के लिए सुविधाएं बढ़ाई जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के शुरूआती दौर में मार्च 2020 की स्थिति में केवल एम्स रायपुर में ही कोविड टेस्टिंग की सुविधा थी।

आज की स्थिति में राज्य के सभी छह शासकीय मेडिकल कॉलेज, चार निजी लैब में आरटीपीसीआर टेस्ट, 30 लैब में टू्र-नाट टेस्ट तथा 28 जिला अस्पतालों सहित सभी सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में रैपिड एंटीजन किट से कोरोना संक्रमण के टेस्ट की सुविधा उपलब्ध है।

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कोरोना पीड़ितों के इलाज के लिए छत्तीसगढ़ राज्य में उपलब्ध सुविधाओं के बारे में भी जानकारी दी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा तथा रूचिर गर्ग उपस्थित थे। कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री के सलाहकार विनोद वर्मा तथा राजेश तिवारी भी जुड़े।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button