मुख्यमंत्री बघेल ने कहा: पेंशनरों का जीवन और सुगमतापूर्वक चले, इसके लिए करेंगे पूरे प्रयास 

मुख्य सचिव करेंगे पेंशनर्स की मागों का परीक्षण 

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज दुर्ग जिले के पाटन ब्लॉक के गांव एम जामगांव में छत्तीसगढ़ पेंशनर्स समाज के कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा है कि पेंशनर्स का जीवन और भी सुगमतापूर्वक हो, इसके लिए शासन द्वारा पूरा प्रयास किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा पेंशनर्स ने कुछ मांगे रखी हैं, इनका परीक्षण मुख्य सचिव करेंगे। इसके बाद उचित निर्णय लेकर समस्याओं का संतोषजनक समाधान किया जाएगा।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि पेंशनर्स समाज के स्वाभाविक मार्गदर्शक हैं। लोग आपकी बातें समझते हैं। आप भी अपने शहर और गांव में अपने अनुभवों का लाभ दें। उन्होंने कहा छत्तीसगढ़ की चार चिन्हारी को लेकर शासन द्वारा व्यापक कार्य किया जा रहा है। हमारी प्राथमिकता गौठान को लेकर है। पशुधन का हम बहुत प्रभावी इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कल मैं बेमेतरा कृषि मेले में गया था। वहां ग्राम कोपरेडीह के किसान मोहित साहू ने बताया कि उनके पास 12 पशु हैं और 1 एकड़ में 1 पशु के गोबर से जैविक खाद पर्याप्त होता है। वे 12 साल से जैविक खेती कर रहे हैं और 18 हजार रुपये का वर्मी खाद भी बेच देते हैं। इसी तरह हमें कार्य करना है। गौठान में पशुधन के लिए चारे की व्यवस्था करना है।

यहां घेरा, शेड, और प्लेटफॉर्म बनाना है। आप सभी के मार्गदर्शन से इस दिशा में गुणवत्तापूर्ण एवं महत्वपूर्ण कार्य किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि गांवों में युवकों को जैविक खाद बनाने एवं गोबर गैस प्लांट बनाने प्रशिक्षित किया जाएगा। इससे ग्रामीण युवा भी आत्मनिर्भर बनेंगे। चरवाहों को भी आर्थिक रूप से मजबूती दी जाएगी।

आप सभी गांव से जुड़े हैं। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए पेंशनरों से कहा कि आपके पास पर्याप्त अनुभव एवं समय है। इस दिशा में अच्छा कार्य करेंगे और ग्रामीण विकास की पुख्ता व्यवस्था करेंगे।

Back to top button