छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेशवासियों की खुशहाली और समृद्धि का आशीर्वाद मांगा

राजनांदगांव: मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह क्वांर नवरात्रि के अवसर पर परिवार सहित माँ बम्लेश्वरी धाम डोंगरगढ़ पहुँचे। डॉ. रमन सिंह ने धर्मपत्नी श्रीमती वीणा सिंह, सुपुत्र एवं राजनांदगांव सांसद अभिषेक सिंह एवं सुपुत्री डॉ. स्मिता के साथ डोंगरगढ़ पहुंचकर आदि-शक्ति मां बम्लेश्वरी के दर्शन किए एवं विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर प्रदेश की जनता की सुख-समृद्धि के लिए प्रार्थना की। उन्होनें मां बम्लेश्वरी से प्रदेश की तरक्की और खुशहाली के लिए आशीर्वाद मांगा।

मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने देवी दर्शन के बाद ऊपर मंदिर परिसर में स्थानीय जनप्रतिनिधियों और मंदिर ट्रस्ट समिति के पदाधिकारियों से क्वांर नवरात्रि में आयोजित विशाल मेले की व्यवस्थाएं, मंदिर परिसर और क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने दर्शनार्थियों एवं श्रद्धालुओं की सुविधा एवं सत्कार के लिए समाजसेवी संस्थाओं, मां बम्लेश्वरी ट्रस्ट एवं जिला प्रशासन द्वारा किये गये इंतजामों की सराहना की। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने इस मौके पर सभी लोगों को नवरात्रि पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं दी। उन्होनें मंदिर परिसर में गणमान्य नागरिकों और श्रद्धालुओं से भी बातचीत की।

इस अवसर पर डॉ. सिंह ने कहा कि मां बम्लेश्वरी की कृपा से छत्तीसगढ़ राज्य तेजी से तरक्की कर रहा है। हर वर्ष छत्तीसगढ़ की जनता की खुशहाली के लिए माता के दरबार में प्रार्थना करता हूँ। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार किसानों को राहत देने हर संभव प्रयास कर रही है। किसानों को धान पर बोनस देने का निर्णय भी सरकार ने लिया है। इसके लिए हर जिले में बोनस तिहार का आयोजन भी किया जा रहा है। इसके साथ ही केन्द्र सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना भी प्रारंभ की है। फसल के नुकसान होने पर अनावरी रिपोर्ट के आधार पर किसानों को बीमा का लाभ मिल सकेगा। इसके अलावा राजस्व परिपत्र 6-4 के अंतर्गत मुआवजा भी फसल क्षति पर दिया जाता है। इन योजनाओं के किसान भाईयों को राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास एवं उज्ज्वला योजना के माध्यम से बीपीएल लोगों को आवास तथा रसोई गैस जैसी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। सामाजिक विकास की योजनाओं के लिए बड़ी राशि सरकार ने आरक्षित की है। इससे समाज का एक बड़ा तबका मुख्य धारा में शामिल हो रहा है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में स्वास्थ्य बीमा के माध्यम से राज्य के सभी नागरिकों को स्मार्ट कार्ड के माध्यम से ईलाज की सुविधा प्रदान की गई है। श्रमिकों के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है। चाहे मेघावी श्रमिक बच्चों की छात्रवृत्ति हो अथवा श्रमिक परिवार में होने वाले विवाह के लिए दी जाने वाली राशि हो। जीवन के हर चरण में सहयोग करने श्रम विभाग की योजनाएं हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में उद्यमशीलता को बढ़ाने के लिए मुद्रा योजना, स्टॉर्टअप, स्टैण्डअप जैसी योजनाएं आरंभ की है। बड़ी संख्या में युवाओं का आगे आकर इन योजनाओं में हिस्सा लेने से युवाओं की ऊर्जा को सकारात्मक दिशा मिली है, इससे प्रदेश के विकास को गति मिली है। हुनर को बढ़ाने के लिए हर जिले में लाईवलीहुड कॉलेज आरंभ किये हैं। जिससे प्रदेश में हुनरमंद लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इसका सीधा लाभ उद्योग धंधो को एवं उपभोक्ताओं को मिल रहा है। हुनरमंद लोग स्वयं का व्यवसाय भी शुरू कर रहे है तथा अपने साथ अन्य लोगों को रोजगार भी दे रहे है।

सांसद अभिषेक सिंह ने इस अवसर पर कहा कि मां बम्लेश्वरी की असीम कृपा से प्रदेश तरक्की के रास्ते में बढ़ रहा है। आम जनता की जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाई गई शासन की योजनाओं के जमीनी स्तर पर प्रभावी क्रियान्वयन से प्रदेश की सूरत बदली है। केन्द्र शासन एवं राज्य शासन ने ऐसी योजनाएं तैयार की है जिनसे प्राकृतिक आपदाओं में फसल क्षति जैसी समस्याओं से किसानों को राहत मिले, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना इसमें सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। इसके अलावा छत्तीसगढ़ शासन ने धान बोनस देने का निर्णय लिया है। आगामी रबी फसल की बेहतरी के लिए भी कृषि विभाग का अमला किसानों के साथ मिलकर काम कर रहा है।

इस अवसर पर राज्य अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष रामजी भारती, राजगामी संपदा न्यास के अध्यक्ष रमेश पटेल, पूर्व विधायक विनोद खांडेकर, पूर्व विधायक खेदूराम साहू, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भरत वर्मा, जनपद अध्यक्ष श्रीमती किरण साहू, कलेक्टर भीम सिंह, पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल, एडिशनल एसपी प्रफुल ठाकुर, एसडीएम आर.बी. देवांगन सहित जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.