छत्तीसगढ़

गरीब परिवार की कन्याओं के लिए मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना बना वरदान

जिले के पांच सौ तिरानब्बे बेटियां मुख्यमंत्री कन्या विवाह से हुए लाभान्वित

उत्तर बस्तर कांकेर 28 दिसम्बर 2020 : प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा गरीब परिवार के बेटियों की चिन्ता करते हुए उनके जन्म से लेकर विवाह तक की योजना बनाई गई हैं, जिसमें मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना भी शामिल है। इस योजना का उददेश्य गरीब परिवारों के बेटियों का विवाह में होने वाली आर्थिक कठिनाइयों एवं फिजूलखर्ची को रोकने तथा सादगीपूर्ण विवाहों को बढ़ावा देने, सामाजिक स्थिति में सुधार लाने, सामूहिक विवाहों को प्रोत्साहित करने तथा विवाह में दहेज के लेनदेन और बाल विवाह की रोकथाम करना है।

गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले परिवार मुख्यमंत्री खाद्यान्न योजना अंतर्गत कार्डधारी परिवार की 18 वर्ष से अधिक आयु की अधिकतम दो कन्याओं को इस योजना अंतर्गत लाभान्वित किया जा रहा है। योजना अन्तर्गत प्रत्येक कन्या के विवाह के लिए अधिक्तम 25 हजार रूपए की राशि व्यय किये जाने का प्रावधान है, इसमें से वर-वधु के श्रृंगार सामग्री पर राशि 5 हजार रूपये तथा अन्य उपहार सामग्री पर 14 हजार रूपये और वधु को 01 हजार रूपये नकद राशि तथा सामूहिक आयोजन पर प्रति कन्या 5 हजार रूपए तक व्यय की जा सकती है।

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना

विगत दो वर्ष में कांकेर जिले के लगभग 06 सौ बेटियों का मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना अंतर्गत विवाह संपन्न कराया गया है। जिले के भानुप्रतापपुर में 28 फरवरी 2019़ को 350 जोड़े और कांकेर में 01 मार्च 2020 को 243 जोड़े वर-वधु का विवाह संपन्न कराया गया।

दुर्गूकोंदल विकासखण्ड के ग्राम पर्रेकोड़ो निवासी सुमितबाई बताती है कि अपने 22 वर्षीय बेटी राधिका के लिए अनेक रिश्ता आ रहा था, लेकिन आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने के कारण शादी नहीं करवा पा रही थीं। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के माध्यम से मुझे जानकारी मिली कि गरीबी रेखा के निचे जीवन यापन करने वाले परिवारों के लिए मुख्यमंत्री सामुहिक कन्या विवाह योजना के तहत पंजीयन कराने पर सरकार द्वारा विवाह संपन्न कराये जाते हैं।

इसी बीच मेरे बेटी राधिका के लिए ग्राम हामतवाही निवासी निरमाबाई के पुत्र सुरेन्द्र दुग्गा का रिश्ता आया और उन्होंने भी अपनी परेशानी बताई दोनो परिवारों के मुखियों की मृत्यु होने के बावजुद माताओं द्वारा सहासिक निर्णय लेते हुए परिवार की सहमति से मुख्यमंत्री कन्या विवाह के लिए पंजीयन कराया तथा 28 फरवरी 2019़ को भानुप्रतापपुर में आयोजित मुख्यमंत्री कन्या विवाह कार्यक्रम में वर-वधु का विवाह संपन्न हुआ, अब वे दोनो खुश है तथा दाम्पत्य जीवन व्यतित करते हुए 20 अक्टूबर 2020 को माता पिता भी बन गये हैं। उन्होंने इस योजना से लाभन्वित होकर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को कोटी-कोटी बधाई दिये हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button