मुख्यमंत्री ने पाटन में 7.22 करोड़ की लागत से निर्मित विभिन्न भवनों का किया लोकार्पण

नवनिर्मित भवनों में विश्राम भवन, जनपद पंचायत भवन, जनपद संसाधन केंद्र और अनुविभागीय कार्यालय भवन शामिल

सर्किट हाउस के पहले कमरे में ही राज्य गीत अंकित आकर्षित शिलालेख को देखकर मुख्यमंत्री ने की तारीफ

रायपुर, 13 अक्टूबर 2021: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज दुर्ग जिले के पाटन में 7 करोड़ 22 लाख रूपए से अधिक की लागत से नवनिर्मित विभिन्न भवनों का लोकार्पण किया। इन नवनिर्मित भवनों में पाटन विश्राम भवन (सर्किट हाउस), नवीन जनपद पंचायत भवन, जनपद संसाधन केंद्र और अनुविभागीय कार्यालय भवन शामिल है। इन भवनों में सर्किट हाउस 3 करोड़ 86 लाख रुपए की लागत से बना है। वहीं एक करोड़ 30 लाख रुपये की लागत से नवीन जनपद पंचायत भवन, एक करोड़ 26 लाख रुपए की लागत से जनपद संसाधन केंद्र और लगभग 80 लाख रुपए की लागत से अनुविभागीय अधिकारी (एसडीएम) कार्यालय भवन का निर्माण किया गया है। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने पाटन में बैडमिंटन, वॉलीबॉल, क्रिकेट आदि खेलों के लिए ओपन कोर्ट तथा मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के नवनिर्मित सामुदायिक भवन का भी उद्घाटन किया।
मुख्यमंत्री बघेल ने सर्किट हाऊस लोकार्पण के पश्चात् पूजा-अर्चना कर सर्किट हाऊस का अवलोकन किया। सर्किट हाउस प्रवेश करते हीे हॉल में छत्तीसगढ़ का राज्य गीत अरपा पैरी के धार से अंकित आकर्षक शिलालेख देखकर उन्होंने खुशी जताई और उसकी प्रशंसा की। प्रदेश के राज्य गीत को देख मन में गौरव की भावना आती है। उन्होंनेे कहा कि सर्किट हाउस सुंदर कलाकृतियांे से सजाया गया है, ऐसा हमारे परंपरागत घरों में होता रहा है।

मुख्यमंत्री ने सर्किट हाउस में बैठक कक्ष का भी निरीक्षण किया। सर्किट हाउस में छोटी बैठकों के लिए यह बैठक कक्ष बनाया गया है। मुख्यमंत्री ने इस बैठक कक्ष के नामकरण के लिए उपस्थित लोगों से सुझाव आमंत्रित किए। उपस्थित सदस्यों ने कहा कि हॉल का नाम बैठका होना चाहिए तो किसी ने कहा कि हाल का नाम कुरिया होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि हॉल का चाहे जो भी नाम रखें, नामकरण में हमारी मिट्टी की झलक नजर आनी चाहिए।

मुख्यमंत्री बघेल ने इस मौके पर नवनिर्मित जनपद पंचायत भवन का भी लोकार्पण किया। इस भवन की लागत एक करोड़ 30 लाख रुपये है। जनपद पंचायत के नए प्रशासनिक भवन के बनने से जनपद सदस्यों, अधिकारियों-कर्मचारियों के बैठने की दिक्कत दूर होगी। साथ ही यहां हितग्राहियों की भी परेशानी नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने इस दौरान पर कहा कि कार्यालयों में नागरिकों के लिए जितनी अधिक सुविधा बढ़ाई जाए, उतना ही प्रशासन की नजदीकी नागरिकों से होती है। हमारी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए कि जो नागरिक सरकारी कार्यालयों में आए उनका काम जल्द से जल्द हो सके। साथ ही कार्यालयों में लोगों के लिए बैठने, पेयजल आदि के लिए बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध हो सके। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जनपद संसाधन केंद्र का लोकार्पण भी किया। जनपद संसाधन केंद्र एक करोड़ 26 लाख रुपए की लागत से बना है।
मुख्यमंत्री ने लगभग 80 लाख रुपए की लागत से बने अनुविभागीय अधिकारी (एसडीएम) कार्यालय का उद्घाटन भी किया। उन्होंने कहा कि पाटन ब्लाक में नए प्रशासनिक कार्यालय बन जाने से अधिकारियों को सुविधा होगी। उन्होंने इस दौरान ओपन कोर्ट का भी उद्घाटन किया। ओपन कोर्ट के स्थापित हो जाने से बैडमिंटन, वॉलीबॉल, क्रिकेट आदि खेलों के लिए युवाओं को काफी सुविधा मिलेगी तथा वे यहां निरंतर प्रैक्टिस कर सकेंगे। मुख्यमंत्री बघेल ने पाटन में कुर्मी भवन का भी लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि अब यह भवन सामाजिक जरूरतों के लिए अधिक उपयोगी हो सकेगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button