छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री ने खैलटुकरी में किया मुफ्त वाई-फाई सेवा का शुभारंभ, 18 ग्राम पंचायतों को मिलेगा फायदा

27 महिलाओं को रसोईगैस कनेक्शन सड़क, आंगनबाड़ी भवन, तटबंध निर्माण सहित कई घोषणाएं

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह लोक सुराज अभियान के तहत आज सवेरे राजधानी रायपुर से हेलीकॉप्टर द्वारा रवाना होकर कबीरधाम जिले के ग्राम खैलटुकरी (जनपद पंचायत-पण्डरिया) अचानक पहुंचे। वहां स्कूल परिसर में पहले से ही समाधान शिविर चल रहा था। मुख्यमंत्री शिविर में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने शिविर में केन्द्र सरकार के रूर्बन मिशन के तहत कबीरधाम जिले के कुन्डा क्लस्टर के लिए निःशुल्क वाई-फाई सेवा का शुभारंभ किया।

इसके माध्यम से कुन्डा क्लस्टर की 18 ग्राम पंचायतों के निवासियों को मुफ्त इंटरनेट सेवाओं का लाभ मिल सकेगा। खैलटुकरी ग्राम पंचायत भी इनमें शामिल है। डॉ. सिंह ने इस नयी सेवा के शुभारंभ पर खुशी प्रकट करते हुए सभी लोगों से इसका लाभ लेने की अपील की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य) के तहत कबीरधाम जिले में अब तक छह हजार घरों को कनेक्शन दिए जा चुके हैं। इस योजना में जिले के शेष 21 हजार विद्युत विहीन घरों को आगामी जून माह तक बिजली का कनेक्शन देकर रौशन कर दिया जाएगा। योजना के तहत जिले के 298 मजरो-टोलों को भी जून माह तक बिजली की सुविधा मिलने लगेगी।

समाधान शिविर में लोक सुराज के तहत खैलटुकरी क्लस्टर के आठ ग्राम पंचायतों-कोदवाकला, कोलेगांव, कोयलारीकला, सोमनापुर, सेमरकोना, सैहामालगी, रेहुटाकला और खैलटुकरी के आश्रित गांवों के लोग बड़ी संख्या में मौजूद थे। मुख्यमंत्री इसके बाद रायपुर जिले के ग्राम मूरा (जनपद पंचायत-तिल्दा) के समाधान शिविर में भी अचानक पहुंचकर शामिल हुए। मूरा के सरकारी प्राथमिक स्कूल परिसर में आयोजित शिविर में मूरा क्लस्टर की दस ग्राम पंचायतों-मूरा, बरतोरी-सी, भरूवाडीहकला, छतौद, चिचोली, केशला, केंवतरा, मोहरेंगा, सिर्वे और ताराशिव के पंच-सरपंच, किसान-मजदूर, युवा आदि बड़ी संख्या में मौजूद थे।

डॉ. रमन सिंह ने खैलटुकरी के समाधान शिविर में अधिकारियों को खैलटुकरी से माकड़ी के बीच तीन करोड़ रूपए की लागत से निर्माणाधीन पुल का निर्माण इस वर्ष दिसंबर माह तक अनिवार्य रूप से पूर्ण करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने समाधान शिविर में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गरीब परिवारों की 27 महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन के साथ डबल बर्नर चूल्हा भेंट कर शुभकामनाएं दी। उन्हें पहला भरा हुआ सिलेण्डर भी अलग से दिया जाएगा। ग्रामीणों के आग्रह पर मुख्यमंत्री ने समाधान शिविर में क्षेत्र के लिए कई घोषणाएं की।

सूरजपुरा खुर्द से खैलटुकरी तक पक्की सड़क बनवाने, खैलटुकरी में आंगनबाड़ी भवन निर्माण और इलाके में हाफ नदी का कटाव रोकने के लिए तटबंध निर्माण की स्वीकृति तुरंत प्रदान करने की घोषणा की। डॉ. सिंह ने खैलटुकरी ग्राम पंचायत में दो नग सीसी रोड के लिए छह-छह लाख रूपए के मान से 12 लाख रूपए तत्काल मंजूर कर दिए। समाधान शिविर में मुख्यमंत्री को पण्डरिया क्षेत्र के ग्राम बिसेसरा में संचालित सहकारी शक्कर कारखाने के प्रबंध संचालक ने शिविर में बताया कि दो दिन पहले 28 मार्च को गन्ना उत्पादक किसानों के बैंक खातों में 31 करोड़ 08 लाख रूपए का भुगतान जमा कर दिया गया है।

डॉ. सिंह ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि सहकारी शक्कर कारखाने में गन्ना बेचने वाले किसानों को राशि का भुगतान समय पर हो जाए। इसमें किसी भी प्रकार की देरी नही होनी चाहिए। डॉ. सिंह ने शिविर में खैलटुकरी क्लस्टर के तीन हितग्राहियों को मिनी माता स्वावलंबन योजना के तहत स्वरोजगार के लिए एक-एक लाख रूपए की सहायता राशि के चेक भेंट किए। मुख्यमंत्री ने एक किसान को शासकीय अनुदान पर टेक्टर, दो हितग्राहियों को ई-रिक्शा, दस दिव्यांगजनों को तिपहिया साइकिलों और दो दिव्यांगजनों को श्रवण यंत्रों का वितरण किया। इसके साथ ही उन्होंने राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना के अंतर्गत दो हितग्राहियों को 20 हजार रूपए की अनुदान राशि के चेक दिए। शिविर में 35 नये राशन कार्ड जारी किए गए वहीं स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 260 हेल्थ स्मार्ट कार्डों का भी वितरण किया गया।

शिविर में बताया गया कि इस बार के लोक सुराज अभियान के प्रथम चरण में विगत 12 जनवरी से 14 जनवरी तक आवेदन संकलित किए गए थे। खैलटुकरी क्लस्टर की ग्राम पंचायतों में इस दौरान 3936 आवेदन प्राप्त हुए थे। इनमें से 3865 आवेदन विभिन्न प्रकार की योजनाओं का लाभ लेने के लिए मांगों से संबंधित थे। प्राप्त सभी 3936 आवेदनों में से 3920 आवेदनों का निराकरण कर दिया गया। मुख्यमंत्री के साथ खैलटुकरी के समाधान शिविर में संसदीय सचिव और पण्डरिया क्षेत्र के विधायक मोतीराम चंद्रवंशी और राज्य सरकार के मुख्य सचिव अजय सिंह सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने शिविर में स्वच्छ भारत मिशन के तहत खैलटुकरी के 76 परिवारों को शौचालय निर्माण की राशि नहीं मिलने की जानकारी मिलने पर ग्राम पंचायत के सचिव को दो सप्ताह के भीतर भुगतान सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। डॉ. सिंह ने ग्रामीणों से सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन दुकानों के कामकाज की भी जानकारी ली। उन्होंने ग्रामीणों को यह भी बताया कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत केन्द्र सरकार ने छत्तीसगढ़ को 15 लाख अतिरिक्त रसोई गैस कनेक्शनों का लक्ष्य दिया है। इन्हें मिलाकर अब राज्य में 50 लाख गरीब परिवारों को महिलाओं के नाम पर रसोई गैस कनेक्शन मिलेगा। अब तक 18 लाख से ज्यादा परिवारों को इसका लाभ मिल चुका है।

अब अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग सहित तेंदूपत्ता संग्राहकों को भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा। उन्होंने मनरेगा के तहत गांवों में रोजगारमूलक कार्य अगले दो-ढाई महीने तक जारी रखने के भी निर्देश दिए। डॉ. सिंह ने कहा कि मानसून आने के पहले मनरेगा में खेतों के भूमि समतलीकरण, तालाब गहरीकरण सहित जल संरक्षण के कार्य भी युद्धस्तर पर पूर्ण किए जाएं।

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.