Uncategorizedछत्तीसगढ़

बस्तर में मुख्यमंत्री ने विधिक साक्षरता क्लब का किया शुभारंभ

बस्तर: मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रविवार को बस्तर विकासखण्ड के ग्राम घाटलोहंगा के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में गठित विधिक साक्षरता क्लब का शुभारंभ किया।

मुख्यमंत्री ने इस पहल को बच्चों को नई दिशा में ले जाने का प्रयास बताया। उन्होंने कहा कि छोटी उम्र से ही बच्चों को कानूनी अधिकारों और कर्त्तव्यों के प्रति जागरुकता लाने पर वे भविष्य में अधिक सशक्त नागरिक के रुप में अपनी भूमिका निभाएंगे और देश और समाज की उन्नति में योगदान देंगे। उन्हांेने कहा कि जो बाते बचपन में सिखाई जाती हैं, वे जीवन भर न केवल याद रहती हैं, बल्कि वह संस्कार बनकर जीवनचर्या का हिस्सा बन जाती हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि संविधान ने हमें कई मूलभूत अधिकार दिए हैं, जिनमें शिक्षा का अधिकार, सूचना का अधिकार कौशल का अधिकार आदि शामिल है। उन्होंने कहा कि अधिकारों का लाभ लेने के लिए जागरुकता जरुरी है तथा विधिक अधिकारों की जानकारी जीवन की अमूल्य पूंजी साबित होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज में व्याप्त कुप्रथाओं को रोकने के लिए कानून बनाए गए हैं तथा इन कानूनों का पालन भी समाज की जागरुकता से होगा। उन्होंने बाल विवाह की कुप्रथा को रोकने के लिए वहां उपस्थित बालिकाओं से समर्थन मांगा, जिस पर बालिकाओं ने हाथों को ऊपर उठाकर समर्थन दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाल विवाह की कुप्रथा को रोकने के लिए बालिकाओं को आगे आना होगा तथा स्वयं के या अन्य बालिका के बाल विवाह की जानकारी मिलने पर उसे रोकने के लिए कदम उठाना होगा। उन्होंने बच्चों में कानूनी जागरुकता बढ़ाने के लिए स्कूली पाठ्यक्रमों में भी विधिक ज्ञान को शामिल करने की बात कही। उन्होंने कहा कि बच्चों में कानून का ज्ञान बढ़ने पर घर-परिवार, पालक के साथ ही गांव के लोगों को भी लाभ होगा।</>

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button