छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री ने अनेक विद्युत उपकेन्द्रों का किया लोकार्पण

रायपुर : प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली की सतत आपूर्ति के लिए नए विद्युत उपकेन्द्रों के निर्माण की विशेष पहल की गई है। ऐसे कार्यों को पूर्ण करने के लिए प्रदेश में सबट्रांसमिशन योजना बनाई गई है। इसके अन्तर्गत भैंसातरा, बाजार चारभांटा, महाराजपुर और हरिनछपरा में नवनिर्मित 33/11 केव्ही सब-स्टेशनों का लोकार्पण मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने किया।
कार्यपालक निदेशक संजय पटेल ने कहा कि, सब-ट्रांसमिशन योजना के तहत लगभग 1.50-1.50 करोड़ की लागत से निर्मित इन सब-स्टेशनों के क्रियाशील हो जाने से संबंधित क्षेत्रों को लो-वोल्टेज से मुक्ति मिलेगी। विद्युत संबधी अन्य समस्याओं का निराकरण सहित गुणवत्तापूर्ण बिजली की आपूर्ति होगी। उन्होंने बताया कि, एसटीएन, आईपीडीएस और डीडीयूजीजेवाय योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए राजनांदगांव और कवर्धा में 33/11 केव्ही क्षमता के 40 नए सब-स्टेशनों का निर्माण तेजी से किया जा रहा है।
पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी की ओर से ग्रामीण क्षेत्रों की विद्युत अधोसंरचना का विस्तार किया जा रहा है । इसके साथ ही विद्यमान उपकेन्द्रो में स्थापित ट्रांसफार्मरों और डिस्ट्रीब्युशन ट्रांसफार्मरों की क्षमता को बढ़ाई जा रही है। इससे ओवर लोडिंग वाले क्षेत्रों को उच्च गुणवत्ता की विद्युत आपूर्ति होगी।

यहां बन रहे 33/11 केव्ही क्षमता के नए उपकेन्द्र: 33/11 केव्ही क्षमता के नए उपकेन्द्रों का निर्माण कार्य भैसातरा, बोरी, सोनेसरार, सुरगी, डुमरटोला, हाटबंजारी, राहुद, लिमो, बांधाबाजार, मंडला, ईटार, खडग़ांव, अमलीडीह, उदयपुर, पैलीमेंटा, उमरवाही, बइहाटोला, कोनारी एवं डोंगरगांव, बाजार चारभांठा, गोपालभावना, महाराजपुर, पथर्रा, कोयलारी, रवेली, दुल्लापुर, बिरनपुर, मिनमिनियां मैदान, नरोली, बैजलपुर, खरहट्टा, कोलेगांव, हरिनछपरा, मड़मड़ा, किसुनगढ़, कोदवागोड़ान, कवर्धा और पंडरिया में किया जा रहा है।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.