राष्ट्रीय

मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र के थाना प्रभारी ने की एक युवती की पिटाई

एसपी ने थाना प्रभारी हरीश कुमार पाठक को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया

नई दिल्ली:झारखंड के बरहेट संथाली के एनटीपीसी इरकोन रोड की रहने वाली राखी कुमारी ने एसपी को आवेदन देकर थाना प्रभारी पर गाली-गलौज व मारपीट करने की शिकायत की। राखी का आरोप था कि बीते 22 जुलाई को थाना प्रभारी उसे थाना बुलाकर पूछने लगे कि तुम रामू मंडल से शादी करने वाली हो।

इसपर राखी ने थाना प्रभारी से कहा था कि हमदोनों प्यार करते है और शादी भी करेंगे। युवती का आरोप है कि इसपर थाना प्रभारी गुस्से में आकर गंदी-गंदी गालियां देते हुए बाल पकड़कर मारने-पिटने लगे। मारपीट से उनके नाक से खून निकलने लगा।

एसपी ने थाना प्रभारी हरीश कुमार पाठक को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया। एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा ने एसडीपीओ को जांच की जिम्मेदारी दी है। युवती ने रविवार को इसकी शिकायत एसपी से भी की थी। दूसरी ओर, भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी ने इस घटना को अमानवीय करार देते हुए थाना प्रभारी को बर्खास्त करने की मांग की है।

साथ ही राखी ने बताया कि थाना में उस पर सादे कागज पर दस्तखत भी करा लिए गए थे। इधर, थाना प्रभारी हरिश कुमार पाठक का कहना है कि युवती का तमाम आरोप बेबुनियाद है। वरीय अधिकारी वायरल वीडियो की जांच करेंगे तो पूरे मामले की सच्चाई सामने आ जाएगी।

लगातार विवादों में रहा है दारोगा :

दारोगा हरीश पाठक हमेशा ही विवादों में रहे हैं। जामताड़ा में पोस्टिंग के दौरान हरीश पाठक पर मिन्हाज अंसारी नाम के युवक को हाजत में पीट कर मारने का आरोप लगा था। इस मामले में सीआईडी ने हरीश पाठक के खिलाफ 2018 में चार्जशीट दायर किया था।

हाईकोर्ट ने भी इस मामले में हरीश पाठक की जमानत याचिका रद कर दी थी। सीआईडी ने नए सिरे से इस मामले में अनुसंधान के लिए अब कोर्ट को लिखा है। पलामू में भी अभियान के दौरान एक युवक की मौत के बाद हरीश पाठक पर आरोप लगे थे।

पलामू व जामताड़ा में विभागीय कार्रवाई में भी पाठक को दोषी पाया गया था। लेकिन मार्च महीने के बाद जब पुलिस में बदलाव हुए तब पाठक को इन विभागीय कार्रवाई में राहत दी गई। हाल ही में साहिबगंज में व्यवसायी अरूण साव के अपहरण मामले में एएसआई चंद्राई सोरेन की मौत के बाद भी हरीश पाठक की लापरवाही की चर्चा पूरे पुलिस महकमे में रही थी।

पूर्व मुख्यमंत्री बाबुलाल मरांडी ने हरीश पाठक की भूमिका की जांच सीबीआई से कराने की मांग की थी। राज्य पुलिस मुख्यालय कुछ अफसरों के चहेते हरीश पाठक को हाल में पूर्व के दो विभागीय कार्रवाई में राहत देते हुए, विभागीय कार्रवाई चलाने वाले अफसरों पर ही सवाल खड़े किए गए थे।

बकोरिया कांड से आए चर्चा में :

हरीश पाठक बकोरिया मुठभेड़ कांड को लेकर चर्चा में आए थे। पाठक ने मुठभेड़ को गलत बताया था साथ ही इस मामले में तत्कालीन एसपी पर भी गलत तरीके से एफआईआर के लिए दबाव डालने का आरोप लगाया था।

थाना प्रभारी पर हो सख्त कार्रवाई:

भाजपा विधायक दल नेता बाबूलाल मरांडी ने साहेबगंज जिला के बरहेट थाना प्रभारी हरीश पाठक द्वारा एक लड़की के साथ झोंटा पकड़कर पटककर मारपीट व गाली-गलौज करने की घोर निंदा की है।

उन्होंने कहा है कि थाना प्रभारी ने लड़की को पीटने के अलावा एक लड़के की मां को भी भद्दी-भद्दी गाली दी। साथ ही महिला के पति व बेटे को दौड़ाकर गोली मारने सहित कई प्रकार की धमकी देने का मामला सामने आया है। इस संबंध में पीड़ित लड़की और लड़के की मां ने आवेदन देकर थाना प्रभारी के काले करतूतों से अवगत कराया है।

थाना प्रभारी पर सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए, जिससे इस तरह के मामले फिर से न हो। बाबूलाल ने बताया कि मामले को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखकर आरोपित दारोगा को बर्खास्त कर जेल भेजने की मांग की गई है।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर जताई नाराजगी :

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने वीडियो पर आपत्ति जताते हुए लिखा है कि यह सरासर गलत और अनुचित कृत्य है जो बर्दाश्त के काबिल नहीं है। मुख्यमंत्री ने ट्वीट के जरिए डीजीपी को आदेश दिया कि वह थानेदार के खिलाफ कार्रवाई कर उन्हें सूचित करें। सीएम के ट्वीट पर डीजीपी ने लिखा है कि थानेदार को निलंबित कर दिया गया है। वहीं डीजीपी ने पीड़िता को पर्याप्त सुरक्षा देने की बात भी कही है।

मुंबई के एक फिल्मकार ने भी किया ट्वीट :

बरहेट थाना के कारतूस का वीडियो वायरल होने के बाद इसे देश भर के लोगो ने शेयर किया है। इस मामले में मुंबई के एक फिल्मकार अविनाश दास (अनारकली ऑफ आरा के डायरेक्टर) ने ट्वीटर पर सीएम हेमंत सोरेन को वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा है कि झारखंड में साहिबगंज जिला है। वहां बरहेट थाना का प्रभारी एक लड़की से कैसे पेश आ रहा है।

हेमंत सोरेन जी आपको देखना चाहिए। लड़की प्रेम विवाह करना चाहती है और थाना प्रभारी उसकी इस इच्छा को थप्पड़ों से कुचलना चाह रहा है। शर्मनाक है ये। तभी सीएम ने इसे नोटिस में लिया और ट्वीट कर डीजीपी एमवी राव को दोषित प्रभारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश देते हुए सूचित करने को कहा। उधर, इन फिल्मकार के ट्वीट पर कई लोगों ने कई तरह की प्रतिक्रिया दी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button