छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय को दी श्रद्धांजलि

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल 11 फरवरी को देश के महान चिंतक, लेखक और एकात्म मानववाद के प्रवर्तक स्वर्गीय पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्य तिथि पर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी है। डॉ. सिंह ने आज यहां अपने एक संदेश में कहा है कि छत्तीसगढ़ विधानसभा में 10 फरवरी को पेश किए गए राज्य सरकार का आगामी वित्तीय वर्ष 2018-19 का बजट भी पंडित दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद और अंत्योदय के दर्शन के अनुरूप है। डॉ. सिंह ने कहा- पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने समाज की अंतिम पंक्ति के लोगों के उत्थान के लिए देश और दुनिया को एकात्म मानववाद और अंत्योदय जैसा प्रगतिवादी और क्रांतिकारी चिंतन दिया। उनकी इस विचारधारा के अनुरूप छत्तीसगढ़ सरकार ने भी अंत्योदय को अपना लक्ष्य मानकर राज्य की अंतिम पंक्ति के लोगों और अंतिम छोर के गांवों की तरक्की और खुशहाली के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। राज्य सरकार के नये बजट में भी पंडित दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद और अंत्योदय दर्शन का गहरा असर साफ देखा जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा-स्वर्गीय पंडित दीनदयाल उपाध्याय गंभीर चिंतक और लेखक होने के साथ-साथ एक प्रखर पत्रकार भी थे। उन्होंने ’पांचजन्य’ और ’राष्ट्रधर्म’ जैसी पत्र-पत्रिकाओं का सम्पादन और प्रकाशन किया। इसके साथ ही उन्होंने कई पुस्तकें भी लिखी। उनकी पुस्तकों में ’एकात्म मानववाद’, राष्ट्र जीवन की दशा, ’भारतीय अर्थनीति का अवमूल्यन’, आदि विशेष रूप से उल्लेखनीय है। स्वर्गीय पंडित दीनदयाल उपाध्याय का जन्म 25 सितम्बर 1916 को राजस्थान के जयपुर जिले के ग्राम धानक्या में हुआ था। उनका निधन सिर्फ 52 वर्ष की उम्र में 11 फरवरी 1968 को मुगलसराय में हुआ।

Tags
Back to top button