छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री पेंशन योजना की शुरुआत 60वर्ष से अधिक के बुजुर्ग बेसहारों के लिए – प्रभारी मंत्री पैकरा

समस्याओं को जानने का अभियान है लोक सुराज

अम्बिकापुर : प्रदेश के गृह जेल एवं लोक स्वास्थ्य तथा जिले के प्रभारी मंत्री रामसेवक पैकरा कल प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान के तृतीय चरण के तहत जनपद पंचायत अम्बिकापुर अंतर्गत ग्राम पंचायत नवानगर में आयोजित समाधान शिविर में शामिल हुए।

उन्होंने शिविर को सम्बोधित करते हुए कहा कि आपकी सरकार आपके द्वार की तर्ज पर लोगों की समस्याओं के समाधान की जानकारी स्थानीय स्तर पर ही देने के लिए समाधान शिविरांे का आयोजन किया जा रहा है। यह समाधान शिविर पूरे प्रदेश में प्रत्येक जिले में आयोजित किए जा रहे हैं।

पैकरा ने कहा कि पहले के सरकारों द्वारा इस प्रकार की कोई शिविर का आयोजन नहीं किया जाता था किन्तु डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने लोगों की समस्याओं और मांगों पर गंभीरतापूर्वक विचार करने के लिए लोक सुराज अभियान की शुरूआत की गई है।

उन्होंने कहा कि लोक सुराज अभियान के प्रथम चरण में लोगों ने अपनी समस्याओं और मांगों के संबंध में अपने-अपने ग्राम पंचायतों में आवेदन जमा कराया था, उन आवेदनों के निराकरण की जानकारी अभियान के तृतीय चरण में समाधान शिविर के माध्यम से लोगों को दी जा रही है। पैकरा ने कहा कि लोक सुराज में लोगों की समस्याओं का समाधान तो किया ही जा रहा है।

इसके साथ ही उनके मांगों को भी यथासंभव पूरा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों के खेतों में डबरी तथा कुऑ निर्माण के साथ ही साथ भूमि समतलीकरण के कार्य स्वीकृत किए जा रहे हैं। पैकरा ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि कुऑ, डबरी तथा भूमि समतलीकरण के कार्यो को ईमानदारीपूर्वक कराएं, ताकि बेहतर तरीके से कृषि कार्य कर उत्पादन में बढोत्तरी हो सके।

गृह मंत्री ने कहा कि विगत चौदह वर्षो में डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में शहर से लेकर गांव तक विकास की बयार बह रही है। आज हर गांव गली एवं मोहल्ले में सड़क एवं सीसी रोड का निर्माण किया जा रहा है, जिससे गांव मुख्य मार्गो से जुड़ते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहले किसानों को कृषि कार्यो के लिए 17-18 प्रतिशत ब्याज की दर पर ऋण लेना पड़ता था, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत नहीं हो पाती थी।

डॉ. रमन सिंह की सरकार ने किसानों की चिंता करते हुए ब्याज दर को कम करते हुए आज शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर किसानांे को ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर गन्ना कारखाना खुलने से गन्ना किसानों को सहूलियत हुई है तथा गन्ना के रकबे में भी वृद्धि हुई है।

पैकरा ने बताया कि राज्य शासन द्वारा 60 वर्ष से अधिक उम्र के बेसहारों के लिए ‘‘मुख्यमंत्री पेंशन योजना‘‘ की शुरूआत की जा रही है। जिसमें हितग्राहियों का नाम 2002 की पात्रता सूची में नाम होने की बाध्यता नहीं है। उन्होंने मुख्यमंत्री पेंशन योजना के तहत लाभ उठाने हेतु जानकारी देने तथा फॉर्म भराने का कार्य करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

अधिकारियों द्वारा बताया गया कि शिविर में 10 ग्राम पंचायतों से कुल 1 हजार 74 आवेदन प्राप्त हुए थे। जिसमंे मांग के 1 हजार 33 तथा शिकायत के 41 आवेदन शामिल हेैं। सभी आवेदनों का गुणवत्तापूर्ण निराकरण कर आवेदकों को वाचन कर सुनाया गया।

इस अवसर पर अपर कलेक्टर निर्मल तिग्गा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आर.के. साहू, अम्बिकापुर के अनुविभागीय दण्डाधिकारी अजय त्रिपाठी, जिला खाद्य अधिकारी एवं जिला स्तरीय नोडल अधिकारी रविन्द्र सोनी सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *