यदि पार्षद महापौर चुनेंगे तो बेहतर काम होगा : मुख्यमंत्री

रायपुर. छत्तीसगढ़ की जनता अब अपने महापौर को सीधे तौर पर चुनने से वंचित हो सकती है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयान के बाद से संभावना यह है कि छत्तीसगढ़ में अप्रत्यक्ष प्रणाली से महापौर चुनाव होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि अप्रत्यक्ष प्रणाली के संबंध में सरकार की ओर से एक उप समिति बनाई गई है जिसमें 3 कैबिनेट मंत्री शामिल हैं. उपसमिति की जो भी सिफारिश होगी उसके आधार पर ही फैसला लिया जाएगा. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि अप्रत्यक्ष प्रणाली में कोई खराब नहीं है. पार्षद यदि महापौर चुनेंगे तो बेहतर समन्वय से काम होगा.

Back to top button