छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना की जिले में हुई शुरुआत

कलेक्टर, सीएमएचओ, आयुक्त और महापौर ने दिखाई हरी झंडी

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

  • 45 से अधिक ब्लड-यूरिन टेस्ट और प्राथमिक चिकित्सा की सुविधा

रायगढ़ 21 अक्टूबर। राज्य शासन की योजना मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना की शुरुआत आज से शहर में शुरू हो गई है। कलेक्टर भीम सिंह ने सीएमएचओ डॉ. एसएन केसरी, निगम आयुक्त आशुतोष पाण्डेय, महापौर जानकी काटजू की मौजूदगी में इस मोबाइल वैन को कलेक्टोरेट परिसर से हरी झंडी दिखाई। यह मोबाइल मेडिकल वैन शहर के चिन्हित 37 जगहों और शहर के 10 किलोमीटर के रेंज में अपनी सेवाएं देगी। जिनमें मुख्य रूप से झुग्गी झोपड़ी और स्लम एरिया शामिल हैं।

इस वैन में एक एमबीबीएस डॉक्टर, एक लैब टैक्नीशियन, एक स्टाफ नर्स, एक ड्रग स्पेशलिस्ट होंगे, इस वैन का ड्राइवर वार्ड ब्वाय की जानकारी रखने वाला होगा। जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम और श्रम विभाग की यह साझी योजना है। इस मोबाइल मेडिकल वैन के माध्यम से श्रमिकों को चिन्हिंत कर उन्हें प्राथमिक इलाज दिया जाएगा इसी कारण श्रम विभाग को भी इसमें शामिल किया गया है।

मुख्मंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना

मुख्मंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत निगम क्षेत्र के नागरिकों की बस्ती/मोहल्ला में ही चिकित्सा की उन्नत सेवा मोबाइल मेडिकल यूनिट के माध्यम से हो पाएगी। लोगों को उनके घर के करीब मेडिकल सुविधा प्राप्त होने के कारण स्लम क्षेत्रों के नागरिक इसका लाभ आसानी से प्राप्त कर पाएंगे। यह पूरी तरह से निःशुल्क सेवा है। यह मोबाइल मेडिकल वैन वार्ड, मोहल्ले में निर्धारित स्थल जो कि सामान्यतः सांस्कृतिक भवन, चबूतरा, वार्ड कार्यालय निकाय के अन्य भवन के पास खड़ी हो जाएगी जहां से लोगों का प्राथमिक उपचार किया जाएगा ।

मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना के स्टेट प्रोजेक्ट हेड श्रीधर इम्माडी बताते हैं कि 70 से अधिक मेडिकल साजो-सामान से युक्त इस मोबाइल मेडिकल वैन में 45 के करीब ब्लड-यूरिन टेस्ट हो सकते हैं। अभी एक मेडिकल वैन आई है महीने के अंत तक 3 और मेडिकल वैन आएगी। इस वैन के सभी स्टाफ स्थानीय ही होंगे। शहरी क्षेत्र के लोगों को प्राथमिक उपचार, सक्रामक व गैर संक्रामक रोगों की स्क्रीनिंग बेसिक लैब टेस्ट आदि की सेवाऐं दी जायेंगी। यदि मरीज को इलाज के लिए उच्च चिकित्सा केन्द्र भेजने की जरुरत होगी तो मोबाइल यूनिट का डॉक्टर उसे रेफर करेंगे।

यह चलित ओपीडी है : कलेक्टर

उद्घाटन के अवसर पर कलेक्टर भीम सिंह ने बताया कि इस महीने इस मोबाइल मेडिकल वैन का टेस्टिंग पीरियड है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल नवंबर महीमें में विधिवत इसकी लॉन्चिंग करेंगे। इस मोबाइल वैन में सरकारी दवाई मिलेगी और स्वास्थ्य विभाग के द्वारा इसकी आपूर्ति की जाएगी। लोगों को प्राथमिक उपचार की सारी सुविधाएं इसके द्वारा प्राप्त होंगी। गंभीर बीमारी आने पर यहां के डॉक्टर मरीज को सरकारी अस्पताल के लिए रेफर करेंगे। यह एक तरीके से चलित ओपीडी है जिसका लोगों को लाभ मिलेगा।

स्लम एरिया पर है फोकस : आयुक्त

निगम आयुक्त आशुतोष पाण्डेय ने बताया कि इस मोबाइल मेडिकल वैन के लिए तय रूट प्लान किया गया है जिसमें स्लम एरिया को ज्यादा फोकस किया गया है। वंचितो को स्वास्थ्य मुहैया कराना हमारी प्राथमिकता है। कोरोना के इस दौर में छोटी-छोटी बीमारियों से परेशान लोगों को घर के समीप ही चेक-अप की सुविधा मिलेगी और यह उनके लिए कारगार है। सुबह 9 बजे से शाम 5.30 बजे तक मोबाइल मेडिकल वैन की सुविधा शहर के लोग ले सकते हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button